1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Umesh Malik jeevan Parichay : उमेश मलिक बीजेपी की उम्मीदों पर उतरे खरे, बने पहली बार विधायक

Umesh Malik jeevan Parichay : उमेश मलिक बीजेपी की उम्मीदों पर उतरे खरे, बने पहली बार विधायक

Umesh Malik jeevan Parichay : यूपी (UP) के मुजफ्फर नगर जिले (Muzaffar Nagar District) में निर्वाचन क्षेत्र - 11, बुढ़ाना विधानसभा सीट (Constituency - 11, Budhana Assembly seat) उमेश मलिक (Umesh Malik) भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के टिकट पर उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा (17th Legislative Assembly of Uttar Pradesh) में पहली बार चुनाव जीते हैं। उमेश मलिक (Umesh Malik) ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के प्रत्याशी प्रमोद त्यागी (Pramod Tyagi) को 13,201 मतों से पराजित कर जीत दर्ज की।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Umesh Malik jeevan Parichay : यूपी (UP) के मुजफ्फर नगर जिले (Muzaffar Nagar District) में निर्वाचन क्षेत्र – 11, बुढ़ाना विधानसभा सीट (Constituency – 11, Budhana Assembly seat) उमेश मलिक (Umesh Malik) भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के टिकट पर उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा (17th Legislative Assembly of Uttar Pradesh) में पहली बार चुनाव जीते हैं। उमेश मलिक (Umesh Malik) ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के प्रत्याशी प्रमोद त्यागी (Pramod Tyagi) को 13,201 मतों से पराजित कर जीत दर्ज की।

पढ़ें :- Krishanpal Malik jeevan parichay : केपी मलिक मोदी लहर में बने पहली बार विधायक,इस सीट पर पहली बार खिलाया ​कमल

जीवन शैली और शिक्षा

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के विधायक उमेश मलिक (Umesh Malik) का जन्‍म 5 अक्टूबर 1967 को हुआ था। उनके पिता का नाम रामपाल सिंह और माता का नाम जगवती है। वह मुजफ्फरनगर (Muzaffar Nagar ) की तहसील बुढ़ाना के फुगाना थाना क्षेत्र स्थित गांव डूंगर के रहने वाले हैं। उमेश मलिक (Umesh Malik)ने एमएससी और एलएलबी कर रखी है। उनकी शादी इंद्र रेखा मलिक से हुई है। दोनों के बेटे का नाम शुभम है।

राजनीतिक सफर

उमेश मलिक (Umesh Malik) के राजनीतिक सफर की शुरुआत छात्र जीवन से ही हो गई थी। 1993 में वह मेरठ कॉलेज मेरठ में छात्र नेता रहे। तभी से वह राजनीति में सक्रिय हो गए थे। तभी से वह समाजसेवा के सहारे आगे बढ़ते हुए राजनीति में सक्रिय हो गए थे। छात्र संघ चुनाव में कोई परिणाम नहीं आया, लेकिन वह मेरठ कॉलेज में सर्वमान्य छात्र नेता के रूप में काम करते रहे। साल 2000 में जिला पंचायत सदस्य के पद पर उन्होंने चुनाव मैदान में उतरकर भाग्य आजमाया। साल 2012 तक इन 12 वर्षों में उमेश मलिक ने कई चुनाव लड़े, लेकिन 2010 के बीडीसी चुनाव में ही जीत मिली। 2012 में वह बुढ़ाना विधानसभा से भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party)के टिकट पर चुनाव लड़े मगर हार गए। इसके बाद 2017 में हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) शीर्ष नेतृत्व ने क्षेत्र में उनके प्रभाव और जातिगत समीकरण देखते हुए पुनः बुढ़ाना सीट से टिकट देकर मैदान में उतारा और इस चुनाव में उन्होंने जीत दर्ज की।

पढ़ें :- Naim Ul Hasan jeevan parichay : बीजेपी के सबसे मजबूत गढ़ में नईमुल हसन ने दौड़ाई साइकिल

ये है पूरा सफरनामा

नाम- उमेश मलिक
निर्वाचन क्षेत्र – 11, बुढ़ाना विधानसभा सीट, मुजफ्फर नगर
दल – भारतीय जनता पार्टी
पिता का नाम- रामपाल सिंह
जन्‍म तिथि –5 अक्टूबर,1967
जन्‍म स्थान- डूगंर (मुजफ्फरनगर)
धर्म- हिन्दू
जाति- पिछड़ी जाति (जाट)
शिक्षा- स्नातक
विवाह तिथि- 11 दिसम्बर, 1994
पत्‍नी का नाम- इन्द्र रेखा
सन्तान- एक पुत्र
व्‍यवसाय- कृषि
मुख्यावास- म.न.-496, ग्राम-डूगंर, जिला-मुजफ्फरनगर

राजनीतिक योगदान
मार्च, 2017 सत्रहवीं विधान सभा के सदस्य प्रथम बार निर्वाचित

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...