1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. जबरन मजदूरी को लेकर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट ने चौंकाया, दुनिया में पांच करोड़ लोग बंधुआ मजदूर

जबरन मजदूरी को लेकर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट ने चौंकाया, दुनिया में पांच करोड़ लोग बंधुआ मजदूर

जबरन मजदूरी को बंद किए जाने के लिए अक्सर चर्चा होती रहती है. लेकिन इसका कहीं असर देखने को नहीं मिलता है. लिहाज़ा, इस मामले में तेजी से वृद्धि ही हो रही है.

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली. जबरन मजदूरी को बंद किए जाने के लिए अक्सर चर्चा होती रहती है. लेकिन इसका कहीं असर देखने को नहीं मिलता है. लिहाज़ा, इस मामले में तेजी से वृद्धि ही हो रही है. इसी बीच संयुक्त राष्ट्र ने इसको लेकर एक रिपोर्ट दी है जो बेहद ही चौकाने वाली है. रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनिया भर में करीब 50 मिलियन लोग जबरन मजदूरी या जबरन शादी में फंस गए हैं.

पढ़ें :- Japan News : शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल हुए प्रधानमंत्री मोदी, 100 से अधिक देशों के नेता मौजूद

संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी देते हुए कहा कि हाल के वर्षों में इस आंकड़े में नाटकीय रूप से वृद्धि हुई है. बता दें कि, संयुक्त राष्ट्र ने 2030 तक सभी प्रकार की आधुनिक दासता को समाप्त करने का लक्ष्य रखा था लेकिन इसके बजाय एक नई रिपोर्ट के अनुसार, 2016 और 2021 के बीच जबरन श्रम, जबरन विवाह या बंधुआ मजदूरी में फंसे लोगों की संख्या में 10 मिलियन की वृद्धि हुई.

वॉक फ्री फाउंडेशन के साथ संयुक्त राष्ट्र के एक अध्ययन में ये आंकड़े सामने आये हैं. पिछले साल के अंत में 28 मिलियन लोग जबरन श्रम में थे जबकि 22 मिलियन जबरन विवाह के शिकार थे. चौंकाने वाली बात यह है कि रिपोर्ट में कहा गया है कि इसमें से करीब 14 प्रतिशत लोग राज्य के अधिकारियों द्वारा लगाए गए काम कर रहे थे. अमेरिका सहित कई देशों में अनिवार्य जेल श्रम के दुरुपयोग की भी बात सामने आई है.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...