1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP MLC Election 2022 : सपा के दो प्रत्याशियों का पर्चा रद्द,बीजेपी के दो उम्मीदवारों की निर्विरोध जीत तय

UP MLC Election 2022 : सपा के दो प्रत्याशियों का पर्चा रद्द,बीजेपी के दो उम्मीदवारों की निर्विरोध जीत तय

UP MLC Election 2022: स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र से उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद के निर्वाचन में नामांकन पत्रों की जांच के दौरान समाजवादी पार्टी के दो उम्मीदवारों का नामांकन निरस्त हो गया है। इस वजह से भाजपा के उम्मीदवारों की निर्विरोध जीत का मार्ग प्रशस्त हो गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

UP MLC Election 2022: स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र (Local Authority Constituency) से उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद (Uttar Pradesh Legislative Council) के निर्वाचन में नामांकन पत्रों की जांच के दौरान समाजवादी पार्टी के दो उम्मीदवारों का नामांकन निरस्त हो गया है। इस वजह से भाजपा के उम्मीदवारों की निर्विरोध जीत का मार्ग प्रशस्त हो गया है।

पढ़ें :- UP MLC Election 2022 : सपा उम्मीदवार कीर्ति कोल का पर्चा रद्द, BJP प्रत्याशी की निर्विरोध जीत तय

अधिकारियों ने बताया कि जांच प्रक्रिया के दौरान एक निर्दलीय के अलावा समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के उम्मीदवार उदयवीर सिंह (Udayveer Singh) और राकेश यादव (Rakesh Yadav) के नामांकन पत्र खारिज कर दिए गए। अधिकारियों ने बताया कि तीनों के नामांकन पत्र में कुछ खामियां थीं। निर्वाचन अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल (Returning Officer Ankit Kumar Agrawal ) ने उन्हें खारिज कर दिया है।

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने मथुरा-एटा-मैनपुरी स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्रों (Mathura-Eta-Mainpuri Local Authority Constituency) से उदयवीर सिंह और राकेश यादव को मैदान में उतारा था। उनके पर्चा रद्द होने से दोनों सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों की निर्विरोध जीत का रास्ता साफ हो जाएगा। भाजपा ने इन दोनों सीटों पर क्रमश: आशीष यादव और ओमप्रकाश सिंह को उम्मीदवार बनाया है जिनकी निर्विरोध जीत तय मानी जा रही है। लेकिन इसकी आधिकारिक घोषणा 24 मार्च को प्रक्रिया पूरी होने के बाद की जाएगी।

बता दें कि आगामी 9 अप्रैल को होने वाले उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद  (Uttar Pradesh Legislative Council) के स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र (Local Authority Constituency) से अब 34 सीट के लिए भाजपा और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party)  एक बार फिर आमने-सामने हैं। कांग्रेस और बसपा ने अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं जिससे भाजपा-सपा के बीच सीधा मुकाबला है। विधानपरिषद की सीट के लिए नौ अप्रैल को मतदान होगा और मत गणना 12 अप्रैल को होगी।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि भाजपा राज में लोकतंत्र की रक्षा की अपेक्षा करना (Expecting BJP to Protect Democracy) , दिन में तारे ढूंढना है। उन्होंने कहा कि ये बाहुबल का घोर निंदनीय रूप है या तो पर्चा नहीं भरने दिया जाएगा या चुनाव को प्रभावित या परिणामों को किया जायेगा । यादव ने कहा कि हार का डर ही जनमत को कुचलता (fear of defeat crushes public opinion) है।

पढ़ें :- UP MLC Election 2022: केशव-स्वामी समेत ये 13 नेता यूपी विधान परिषद चुनाव में हुए निर्विरोध निर्वाचित

आजमगढ़ लोकसभा सीट से सांसद अखिलेश यादव मंगलवार को इस्तीफा देने का ऐलान किया है। बता दें कि हाल में हुए यूपी विधानसभा चुनाव में मैनपुरी जिले की करहल विधानसभा सीट से विधायक बने रहने का फैसला किया है। अखिलेश के इस फैसले के पीछे कहीं न कहीं यूपी में रहकर अपनी राजनीति को केंद्रित करने की तैयारी मानी जा रही है। इसके अलावा सपा सांसद आजम खान के भी इस्‍तीफा देने की खबर आ रही है।

हालांकि कयास लगाए जा रहे थे कि वह करहल विधानसभा सीट से इस्तीफा देकर लोकसभा की सदस्यता कायम रख सकते हैं, लेकिन मंगलवार को जिस तरह से उन्होंने संसद पहुंचकर लोकसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपा है उससे साफ हो गया है कि अब वह प्रदेश की राजनीति में पूरी तरह से सक्रिय रहना चाहते हैं।

पढ़ें :- UP MLC Election 2022: भाजपा ने 9 प्रत्याशियों के नामों का किया ऐलान, देखिए लिस्ट

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...