1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. बड़ा खुलासा : ओसामा बिन लादेन 2010 में लिखा था कि जो बाइडन अमेरिका के अयोग्य राष्ट्रपति होंगे साबित

बड़ा खुलासा : ओसामा बिन लादेन 2010 में लिखा था कि जो बाइडन अमेरिका के अयोग्य राष्ट्रपति होंगे साबित

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (US President Joe Biden)  इस समय पूरी दुनिया के निशाने पर हैं। जो बाइडन का अफगानिस्तान (Afghanistan) से सेना वापस बुलाने का फैसला न सिर्फ अफगानिस्तान, बल्कि अमेरिका के लिए भी नए संकट लेकर आएगा। इसी बीच एक रिपोर्ट में अलकायदा चीफ ओसामा बिन लादेन(Al Qaeda Chief Osama bin Laden) द्वारा 2010 के दौरान लिखी गई एक चिट्ठी से बड़ा खुलासा हुआ।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (US President Joe Biden)  इस समय पूरी दुनिया के निशाने पर हैं। जो बाइडन का अफगानिस्तान (Afghanistan) से सेना वापस बुलाने का फैसला न सिर्फ अफगानिस्तान, बल्कि अमेरिका के लिए भी नए संकट लेकर आएगा। इसी बीच एक रिपोर्ट में अलकायदा चीफ ओसामा बिन लादेन(Al Qaeda Chief Osama bin Laden) द्वारा 2010 के दौरान लिखी गई एक चिट्ठी से बड़ा खुलासा हुआ। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस खत में लादेन ने बाइडन के राष्ट्रपति बनने का जिक्र किया था। इसके साथ ही, कहा था कि अगर जो बाइडन (Joe Biden)अमेरिका के राष्ट्रपति बने तो वह खुद ही देश के सामने दिक्कतों का अंबार खड़ा कर देंगे। ओसामा का मानना था कि बाइडन अमेरिका के सबसे अयोग्य राष्ट्रपति साबित होंगे।

पढ़ें :- अमित शाह ने कश्मीरियों को दिया बड़ा संदेश, बोले- मैं Pakistan से नहीं, आपसे करना चाहता हूं बात

 2010 में लादेन ने 48 पन्नों की  शेख महमूद (sheikh mahmood)  नाम के शख्स को लिखी थी लंबी चिट्ठी

बता दें कि 9/11 हमले के बाद अमेरिका ने लादेन और अलकायदा (Al Qaeda ) से बदला लेने के लिए अफगानिस्तान पर हमला कर दिया था। जंग के दौरान लादेन कभी अमेरिका के हाथ नहीं आया। 10 साल बाद यानी 2 मई 2011 को अमेरिका ने उसे पाकिस्तान (Pakistan) के एबटाबाद में ढूंढ निकाला और सीक्रेट मिलिट्री ऑपरेशन (secret military operation) में मार गिराया। इससे पहले 2010 में लादेन ने 48 पन्नों की लंबी चिट्ठी शेख महमूद नाम (sheikh mahmood) के शख्स को लिखी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस चिट्ठी में ओसामा ने अपने संगठन अलकायदा को चेतावनी दी थी कि वह जो बाइडन को अपने निशाने पर न ले। ओसामा (Osama ) का मानना था कि अगर तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा को कुछ होता है तो उनका उत्तराधिकारी (जो बाइडन) अमेरिका को बड़ी मुश्किल में फंसा देगा।

ओसामा ने लिखा था कि बाइडन की हत्या के लिए उन्होंने किसी भी तरह की साजिश नहीं की

जानकारी के मुताबिक, इस चिट्ठी पर मई 2010 की तारीख लिखी हुई है। इस खत में 9/11 के मास्टरमाइंड ओसामा ने लिखा था कि बाइडन की हत्या के लिए उन्होंने किसी भी तरह की साजिश नहीं की थी, क्योंकि उसका मानना था कि बाइडन अमेरिका को संभालने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं हैं। लादेन ने 48 पन्नों की चिट्ठी के 36वें पन्ने पर लिखा था कि वह हमला करने के लिए दो दस्ते तैयार करना चाहता है। एक दस्ता पाकिस्तान में और एक अफगानिस्तान में होगा।

पढ़ें :- T20 World Cup: क्या इस नो बॉल की वजह से हारा भारत? ट्वीटर पर भारत के प्रशंसक उठा रहे सवाल

इस दस्ते का मकसद तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा (US President Barack Obama) और सीआईए के पूर्व निदेशक डेविड पेट्रियस (Former CIA Director David Petraeus) पर हमला करना होगा। हमला तब होगा, जब ये दोनों नेता पाकिस्तान या अफगानिस्तान के दौरे पर आएंगे। लादेन का मानना था कि अगर ओबामा रास्ते से हट जाते हैं तो बाइडन बचे हुए कार्यकाल के लिए राष्ट्रपति बन जाएंगे और चूंकि बाइडन इस जिम्मेदारी के लिए तैयार नहीं हैं, इसलिए अमेरिका अपने आप संकट में आ जाएगा।

13 जुलाई को कई राजनयिकों ने अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन को लिखी थी एक गोपनीय चिट्ठी

अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 13 जुलाई को कई राजनयिकों ने अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन(US Secretary of State Anthony Blinken) को एक गोपनीय चिट्ठी लिखी थी। इसमें कहा गया था कि तालिबान अफगानिस्तान (Afghanistan) में तेजी से कब्जा कर रहा है। काबुल (Kabul) पर खतरा मंडरा रहा है। इसके बावजूद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (US President Joe Biden) यह कहते रहे कि तालिबान के अफगानिस्तान (Afghanistan) पर कब्जा करने के आसार नहीं हैं और काबुल में हालात नहीं बिगड़ेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...