1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Baba Kedarnath Dham : वैदिक मंत्रोच्चार और बाबा के जयकारों के साथ खुल गए केदारनाथ धाम के कपाट

Baba Kedarnath Dham : वैदिक मंत्रोच्चार और बाबा के जयकारों के साथ खुल गए केदारनाथ धाम के कपाट

हिंदुओं के प्रबल आस्था के केद्र बाबा केदारनाथ के कपाट शुक्रवार को वैदिक मंत्रोच्चार और बाबा के जयकारों के साथ् श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए आज खुल गए है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Baba Kedarnath Dham : हिंदुओं के प्रबल आस्था के केद्र बाबा केदारनाथ के कपाट शुक्रवार को वैदिक मंत्रोच्चार और बाबा के जयकारों के साथ् श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए आज खुल गए है।  चार धामों में से एक केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलते ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपनी पत्नी गीता धामी के साथ पूजा-अर्चना की। इससे पहले अक्षय तृतीया के मौके पर यानी 3 मई को चार धाम यात्रा की शुरुआत हुई है। उत्तराखंड सरकार ने चार धाम यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों की संख्या तय कर दी है। एक दिन में 12 हजार श्रद्धालु ही बाबा केदारनाथ के दर्शन कर सकेंगे।

पढ़ें :- उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की पूर्व मध्यमा से उत्तर मध्यमा स्तर तक की परीक्षाओं का कैलेण्डर जारी

मंदाकिनी नदी के तट पर स्थित, केदारनाथ मंदिर चार प्राचीन तीर्थ स्थलों में से एक है जिसे ‘चार धाम’ कहा जाता है, जिसमें यमुनोत्री, गंगोत्री और बद्रीनाथ भी शामिल हैं।आठवीं शताब्दी ईस्वी में जगद्गुरु आदि शंकराचार्य द्वारा निर्मित, केदारनाथ मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। बद्रीनाथ मंदिर के कपाट 8 मई को खुलेंगे। इस महीने की शुरुआत में राज्य सरकार ने चार धामों में आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या सीमित कर दी थी। बद्रीनाथ में प्रतिदिन कुल 15,000, केदारनाथ में 12,000, गंगोत्री में 7,000 और यमुनोत्री में 4,000 तीर्थयात्रियों को अनुमति दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...