1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. दिल्ली MCD चुनाव से पहले ACB का बड़ा एक्शन, टिकट बेचने के आरोप में आप विधायक के रिश्तेदार समेत तीन अरेस्ट

दिल्ली MCD चुनाव से पहले ACB का बड़ा एक्शन, टिकट बेचने के आरोप में आप विधायक के रिश्तेदार समेत तीन अरेस्ट

दिल्ली नगर निगम चुनाव (Delhi Municipal Corporation Elections) से पहले एन्टी करप्शन ब्रांच (ACB) ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। दिल्ली ACB ने पैसे लेकर पार्षद का टिकट बेचने के आरोप में आम आदमी पार्टी (AAP)  विधायक के साले और पीए समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। दिल्ली नगर निगम चुनाव (Delhi Municipal Corporation Elections) से पहले एन्टी करप्शन ब्रांच (ACB) ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। दिल्ली ACB ने पैसे लेकर पार्षद का टिकट बेचने के आरोप में आम आदमी पार्टी (AAP)  विधायक के साले और पीए समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या इस तरह और लोगों से भी पैसे तो नहीं लिए गए।

पढ़ें :- BBC Documentary Controversy: दिल्ली से लेकर मुंबई तक बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर हंगामा

मामला आम आदमी पार्टी (AAP) की एक महिला कार्यकर्ता से जुड़ा है। ACB के मुताबिक इस महिला से पार्षद टिकट दिलाने के नाम पर 90 लाख रुपए मांगे गए थे। गिरफ्तार किए गए आरोपी में मॉडल टाउन से AAP विधायक अखिलेशपति त्रिपाठी का साला ओम सिंह, पीए विशाल पांडेय और एक अन्य आरोपी प्रिंस रघुवंशी शामिल हैं।

महिला का आरोप- विधायकों को दिए पैसे

मामला कमला नगर के वार्ड नम्बर 69 का है. यहां आप कार्यकर्ता शोभा खारी ने आम आदमी पार्टी से पार्षद के टिकट की मांग की थी। शोभा का आरोप है कि MLA अखिलेश पति त्रिपाठी ने टिकट दिलाने के बदले 90 लाख रुपये की मांग की थी। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने 35 लाख रुपये अखिलेशपति त्रिपाठी और 20 लाख रुपये वजीरपुर MLA राजेश गुप्ता को बतौर रिश्वत दिए थे।

काम होने के बाद दिए जाने थे 35 लाख रु.

पढ़ें :- Hindenburg Research Report से शेयर बाजार में मचा तहलका, अडानी ग्रुप में जानें कितना लगा है सरकारी पैसा, सकते में LIC और बड़े बैंक

शोभा के मुताबिक तय डील के मुताबिक बचे हुए 35 लाख रुपये लिस्ट में नाम आने के बाद देने थे। लिस्ट जारी होने के बाद जब सूची में शोभा का नाम नहीं आया तो उन्होंने इस बात की शिकायत विधायक अखिलेशपति त्रिपाठी के साले ओमसिंह से की। उसने पैसे वापस करने की बात कही। शिकायतकर्ता ने बाद में इसकी शिकायत ACB से की और साक्ष्य के तौर पर रिश्वत देते समय रिकॉर्ड किया वीडियो भी एजेंसी को मुहैया करवाया।

ACB ने तीनों को रंगेहाथों किया गिरफ्तार

शिकायत मिलने के बाद ACB ने जाल बिछाया। 15 नवंबर की रात को ओम सिंह अपने साथी शिवशंकर पांडे और प्रिंस रघुवंशी के साथ घूस के 33 लाख रुपये लेकर शिकायतकर्ता के घर पहुंचा। यहां ACB ने एक स्वतंत्र गवाह की मौजूदगी में तीनों को कैश के साथ रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया।

BJP का AAP पर हमला, उठाए गंभीर सवाल

ACB के मुताबिक ये 33 लाख रुपए शुरू में MCD टिकट के लिए दी गयी रकम का हिस्सा ही थे। ACB ने बरामद रकम को सीज कर लिया है। ACB जल्द इस केस से जुड़े दोनों MLA अखिलेशपति त्रिपाठी और वजीरपुर से MLA राजेश गुप्ता से भी पूछ्ताछ करेगी। इस गिरफ्तारी के बाद अब दिल्ली की सियासत गर्मा गई है। भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा ने आप विधायक के साले की गिरफ्तारी होने पर आम आदमी पार्टी के खिलाफ निशाना साधा है।

पढ़ें :- India and New Zealand T20 match: भारत ने टॉस जीतकर चुनी गेंदबाजी, इन खिलाड़ियों को मिला मौका

फिर चुनाव का क्या मतलब रह गया? फिर तो जनतंत्र खत्म है : केजरीवाल 
आप सूरत प्रत्याशी के नामांकन वापसी के बाद आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, गुंडों और पुलिस के दम पर उम्मीदवारों को अगवा करके उनका नामांकन वापिस करवाया जा रहा है। इस किस्म की सरेआम गुंडागर्दी भारत में कभी नहीं देखी गयी। फिर चुनाव का क्या मतलब रह गया? फिर तो जनतंत्र खत्म है।

टिकट बेचने के आरोप को किया खारिज 

इस बीच आम आदमी पार्टी पर टिकट बेचने के आरोपों को सिसोदिया ने खारिज किया। उन्होंने कहा, आप में टिकट नहीं बेचे जाते। किसी ने टिकट के लिए पैसे दिए और पैसे भी लिए गए, लेकिन टिकट नहीं बिका। इससे ही स्पष्ट है कि आप में टिकट नहीं बेचा जाता। उन्होंने कहा, मैं इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग करता हूं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...