1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lakhimpur Kheri Case: लखीमपुर खीरी पहुंची प्रियंका गांधी, श्रद्धांजलि सभा में हुईं शामिल

Lakhimpur Kheri Case: लखीमपुर खीरी पहुंची प्रियंका गांधी, श्रद्धांजलि सभा में हुईं शामिल

Lakhimpur Kheri Case: लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में हुई हिंसा में मारे गए किसानों की आत्मा की शांति के लिए अंतिम अरदास (श्रद्धांजलि सभा) कार्यक्रम जारी है। श्रद्धांजलि सभा में बड़ी संख्या में किसान पहुंचे हैं। इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi), अजय कुमार लल्लू (Ajay kumar lalu) समेत अन्य नेता वहां पहुंच गए हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Lakhimpur Kheri Case: लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में हुई हिंसा में मारे गए किसानों की आत्मा की शांति के लिए अंतिम अरदास (श्रद्धांजलि सभा) कार्यक्रम जारी है। श्रद्धांजलि सभा में बड़ी संख्या में किसान पहुंचे हैं। इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi), अजय कुमार लल्लू (Ajay kumar lalu) समेत अन्य नेता वहां पहुंच गए हैं।

पढ़ें :- नये संकट से घिरे टिकैट बंधु, गांव के एक व्यक्ति ने लगाया सरकारी जमीन कब्जा करने का आरोप

वहां पहुंचने के बाद प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने मृत किसानों को श्रद्धांजलि दी। इस समय किसानों के बीच में प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) मौजूद हैं। इसके साथ ही किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) तिकुनिया में चल रही किसानों की अंतिम अरदास में शामिल हैं। वहीं, श्रद्धांजलि सभा को देखते हुए वहां पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है।

चप्पे चप्पे पर पुलिस फोर्स की तैनाती की गयी है। पीएसी, पैरामिलिट्री, आरएपफ और एसएसबी को भी शहर से लेकर तिकुनिया तक मुस्तैद किया गया है। ड्रोन कैमरों से निगरानी रहेगी। वहीं, इस घटना के बाद ​कांग्रेस के विरोध में लखनऊ से लेकर लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) की सड़कों पर पोस्टर लगे हुए हैं।

सड़कों पर लगे पोस्टर में लिखा है कि, पोस्टर में लिखा सिक्खों के नरसंहार के जिम्मेदारों से सहानभूति नहीं चाहिए। बता दें कि, उधर, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) की कस्टडी रिमांड आज से शुरू हो गयी है। वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी एसपी यादव ने बताया कि 15 अक्टूबर की सुबह रिमांड खत्म हो जाएगा।

पढ़ें :- भाकियू में टूट के बाद ​बोले राकेश टिकैत, सरकारों का काम होता है फूट डालना, हमारा धर्म है किसानों की आवाज को और बुलंद करना
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...