1. हिन्दी समाचार
  2. मध्य प्रदेश
  3. मध्य प्रदेशः जबरन धर्मांतरण के खिलाफ बना कानून, शिवराज सरकार ने जारी की अधिसूचना

मध्य प्रदेशः जबरन धर्मांतरण के खिलाफ बना कानून, शिवराज सरकार ने जारी की अधिसूचना

Madhya Pradesh Law Made Against Forcible Conversion Shivraj Government Issued Notification

By शिव मौर्या 
Updated Date

इंदौर। मध्यप्रदेश में शनिवार से लव जिहाद के खिलाफ कानून लागू हो गया है। राज्य सरकार ने इसके लिए अधिसूचना भी जारी कर दी है। एमपी के गृहमीं नरेत्तम मिश्रा ने धार्मि स्वतंत्रता अध्यादेश 2020 को राजपत्र में इसे अधिसूचित किया है। जिसके बाद से यह कानून प्रभावी हो गया है।

पढ़ें :- महिला सांसद को सांस लेने में तकलीफ की खबर, एमपी भाजपा से है लोकसभा सदस्य

इस विधेयक में शादी या अन्य कपटपूर्ण तरीके से कराया गया धर्मांतरण अपराध माना जाएगा जिसके मामले में अधिकतम 10 साल की कैद और एक लाख रुपए तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

बता दें कि, इस कानून के पास होने के बाद धर्म छिपाकर शादी के अपराध में तीन साल से 10 तक के कारावास और 50 हजार रुपये के दंड का प्रावधान है। सामूहिक धर्म परिवर्तन का प्रयास करने पर पांच से 10 साल तक की कैद और एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

यही नहीं विधेयक में अपनी इच्छा से धर्म संपरिवर्तन करने वाले या कराने वाले व्यक्ति को 60 दिन पहले जिला दंडाधिकारी सूचित किया जाना अनिवार्य किया गया है। ऐसा नहीं करने पर कम से कम तीन से पांच साल की कैद और कम से कम 50 हजार रुपए के अर्थदंड का प्रावधान है।

 

पढ़ें :- महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश जा रहे यात्रियों को पहले पेश करनी होगी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...