1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कोरोना वैक्सीन को लेकर बोले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री- इसके साइड इफेक्ट नहीं के बराबर हैं

कोरोना वैक्सीन को लेकर बोले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री- इसके साइड इफेक्ट नहीं के बराबर हैं

By Manali Rastogi 
Updated Date

Union Health Minister Said About Corona Vaccine

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक ली। पीएम मोदी ने आज सुबह नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) पहुंचकर पुडुचेरी की सिस्टर पी। निवेदा भारत बायोटेक की कोवैक्सीन लगवाई। वहीं, अब पीएम नरेंद्र मोदी  द्वारा वैक्सीन लगवाने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन का बयान सामने आया है।

पढ़ें :- Tokyo Olympic: भारत की इस महिला खिलाड़ी से कि जा रही पदक की उम्मीद,पहले मैच जीत दर्ज कर भरोसे को और बढ़ाया

उन्होंने अपने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश को बहुत स्पष्ट संदेश दे दिया है। अब इससे संबंधित हर तरह का दुष्प्रचार खत्म हो जाएगा। मैं आज अपनी बुकिंग करूंगा और कल मेरी वैक्सीन लेने की योजना है। वैक्सीन के बारे में संदेह न रखें। इसके साइड इफेक्ट नहीं के बराबर हैं। वैक्सीनेशन के कारण अभी तक मौत का कोई मामला सामने नहीं आया है। वैक्सीनेशन के कुछ दिन बाद कोई मौत हुई है तो उसे आप वैक्सीनेशन से नहीं जोड़ सकते क्योंकि हर मौत की जांच वैज्ञानिक दृष्टि से की गई है।

बता दें कि आज कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण देश में शुरू हो चुका है। ऐसे में इस फेज में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोग या फिर अलग अलग बीमारियों से जूझ रहे 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग कोरोना का टीका लगवा सकेंगे। इसके लिए सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। मालूम हो, निजी अस्पतालों में केंद्र सरकार ने टीके की कीमत भी तय कर दी है।

ऐसे में दवा की एक खुराक के लिए लोगों को 250 रूपए देने होंगे। इसमें से 150 रुपये टीके और 100 सर्विस चार्ज के हैं। हालांकि, कोरोना का टीका सरकारी अस्पतालों में मुफ्त में ही दिया जाएगा। वहीं, कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे फेज में लगभग 27 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। टीकाकरण के लिए इस बार 12 हजार से ज्यादा सरकारी और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को काम सौंपा गया है।

पढ़ें :- Tokyo Olympic: देश की ये दो बेटियां जो नहीं लगा पाईं मेडल पर निशाना, पिस्टल में आई तकनीकी खराबी बनी राह में रोड़ा
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...