1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022 : यूपी कांग्रेस ने युवाओं के लिए ‘ भर्ती विधान’ शीर्षक से घोषणापत्र किया जारी,वादों की लगाई झड़ी

UP Election 2022 : यूपी कांग्रेस ने युवाओं के लिए ‘ भर्ती विधान’ शीर्षक से घोषणापत्र किया जारी,वादों की लगाई झड़ी

UP Election 2022 : नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में शुक्रवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय राहुल गांधी व राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी के युवाओं के लिए युवा भर्ती विधान शीर्षक से घोषणापत्र जारी किया, जिसमें प्रदेश के युवाओं के उज्जवल भविष्य का खाका है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

UP Election 2022 : नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में शुक्रवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय राहुल गांधी व राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी के युवाओं के लिए युवा भर्ती विधान शीर्षक से घोषणापत्र जारी किया, जिसमें प्रदेश के युवाओं के उज्जवल भविष्य का खाका है।

पढ़ें :- UP Election 2022: सिराथू से केशव क्यों हारे चुनाव? पीएम को सौंपी गई पार्टी की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

‘ भर्ती विधान’ घोषणापत्र जानें बिन्दुवार क्या किया गया है वादा

पढ़ें :- भाजपा पर शब्दबाण चलाने वाले राजभर ने साधा मौन, कहीं बदलने तो नहीं जा रहा है यूपी का सियासी समीकरण?

इसे भर्ती विधान इसलिए कहा गया है क्योंकि यूपी में सबसे बड़ी समस्या भर्ती की है। आज युवा दुखी हैं, त्रस्त हैं, क्वालिफाइड हैं लेकिन उन्हें रोजगार नहीं मिलता। हमारा ये प्रयास रहा है कि नौजवानों की हर समस्या इस भर्ती विधान में समाहित हो।

युवाओं को इस भर्ती विधान में 20 लाख नौकरियां देने की बात कही गई है। जिसमें आठ लाख महिलाओं को नौकरी दी जाएगी।शिक्षकों के 1.50 पद भी भरे जाएंगे। हमने देखा है कि भर्तियों में जो लेटलतीफी, पेपर लीक आदि होते हैं इसलिए इन समस्याओं पर फोकस किया गया है।

इस विधान में भविष्य निर्माण के लिए यानी युवाओं को रोजगार कैसे शुरू करना है इसके लिए भी एक सेक्शन है।

कुछ सालों से यूपी के विश्वविद्यालयों में चुनाव नहीं हो रहे उसे लेकर भी एक सेक्शन है।

एक सेक्शन में युवाओं की भलाई के बारे में भी बात है। जिसमें उनके स्वास्थ्य से लेकर अन्य चीजें हैं।

पढ़ें :- माया का राहुल पर बड़ा पलटवार: बोलीं- कांग्रेस दूसरों की चिंता करने की बजाय, अपनी पार्टी पर दें ध्यान

इस विधान में प्रदेश के सात करोड़ युवाओं को टारगेट किया गया है।

विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, डॉक्टरों, पुलिस, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के पद बड़ी संख्या में खाली हैं जिन्हें भरा जाएगा।

संस्कृत विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के पद पर भर्ती, उर्दू शिक्षकों की भर्ती भी की जाएगी।

जहां 100 से ज्यादा एक ही इंडस्ट्री की फैक्टरी है उसे क्लस्टर बनाया जाएगा।

भर्ती प्रक्रिया में जो युवाओं का भरोसा टूटा है, उसे दोबारा स्थापित किया जाएगा। भर्ती के लिए फॉर्म भरने में पैसा नहीं लगेगा, आने-जाने के लिए ट्रेन, बस आदि का पैसा नहीं लगेगा।

जॉब कैलेंडर बनाया जाएगा जिसमें परीक्षा की तारीख से नियुक्ति की तारीख तक होगी, कड़ाई से पालन होगा। न हुआ तो जुर्माना लगेगा।

पढ़ें :- सीएम योगी ने अखिलेश का जताया आभार,बोले- पक्ष और विपक्ष हैं लोकतंत्र के दो पहिए

आरक्षण का घोटाला और भर्ती घोटाला जैसे घोटालों पर लगाम लगेगी।

शिक्षा के बजट को हमारी सरकार आने पर बढ़ाया जाएगा।

विश्वविद्यालय, कॉलेजों में फ्री वाई-फाई, लाइब्रेरी, मेस आदि की सुविधा को बढ़ाया जाएगा।

सभी कॉलेज और विश्वविद्यालय में ईडब्ल्यूएस के लिए प्री और पोस्ट मेट्रिक स्कॉलशिप मिले इसकी भी व्यवस्था होगी। सिंगल विंडो भी खोला जाएगा।

रोजगार के लिए नए अवसर निकाले जाएंगे।

नदी पर निर्भर समुदायों के लिए खास काम किया जाएगा।

रोजगार के लिए 1 लाख का ऋण 5 प्रतिशत ब्याज पर मिलेगा।

पढ़ें :- सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क बोले- बाबर अली ने लड्डू बांटकर गलती की, तो बीजेपी ने कही ये बड़ी बात

यूपी में नशीले पदार्थों का सेवन बहुत बढ़ गया है, इसके समाधान के लिए एक सेंटर लखनऊ में होगा और इनके चार हब होंगे जो काउंसिलिंग आदि कर युवाओं को नशे से दूर करेंगे।

हर साल यूथ फेस्टिवल कराना चाहते हैं जिससे लोकल कल्चरल तौर पर विकास होगा। क्रिकेट की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एकेडमी बनाना चाहते हैं।

स्थानीय जगहों पर जो खेल ज्यादा लोकप्रिय हैं उन्हीं जोन में उनको बढ़ाकर ओलंपिक लेवल तक जाने के लिए वहीं एकेडमी बनेगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...