1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. ‛विक्टर नारायण विद्यान्त परिवार की गिनती लखनऊ के शीर्ष रईसों में होती थी’

‛विक्टर नारायण विद्यान्त परिवार की गिनती लखनऊ के शीर्ष रईसों में होती थी’

विद्यांत हिन्दू पीजी कॉलेज,विद्यांत इंटर कॉलेज व विद्यांत प्रायमरी द्वारा संस्थापक दिवस समारोह आयोजित किया गया। कोरोना गाइड लाइन के अनुरूप सादगी के साथ संस्थापक विक्टर नारायण जन्म की जन्म जयंती पर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। विद्यांत हिन्दू पीजी कॉलेज,विद्यांत इंटर कॉलेज व विद्यांत प्रायमरी द्वारा संस्थापक दिवस समारोह आयोजित किया गया। कोरोना गाइड लाइन के अनुरूप सादगी के साथ संस्थापक विक्टर नारायण जन्म की जन्म जयंती पर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए।

पढ़ें :- Lucknow : मतदान व मतगणना कार्मियों को 22 जनवरी से लगेगा बूस्टर डोज, शत-प्रतिशत कराएं टीकाकरण

इस अवसर पर उनको समर्पित साक्षी पत्रिका का लोकर्पण किया गया। वक्ताओं ने विद्यांत जी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला। बताया गया कि विक्टर नारायण विद्यान्त के परिवार की गिनती कभी लखनऊ के शीर्ष रईसों में होती थी। ब्रिटिश काल में उनके पिता और चाचा सरकारी कान्ट्रैक्टर थे। यहाँ का चारबाग स्टेशन,पक्का पुल, हजरतगंज का इलाहाबाद बैंक,सेन्ट्रल बैंक आदि भवनों का निर्माण उनके पिताजी ने ही कराया था।

जनवरी, 1895 में जन्मे विक्टर नारायण विद्यांत कात बचपन, युवावस्था राजसी अन्दाज में बीता। चाँदी के बर्तनों में खाने, महंगी विदेशी कारों में घूमने की सुविधा उन्हें हासिल थी। लेकिन जीवन में ऐसा पल भी आया जब इन भौतिक सुविधाओं के प्रति उनकी आसक्ति नहीं रह गयी। उन्होंने अपनी विदेशी राल्स रायस कार एक मठ के स्वामी जी को दान कर दी। चाँदी के बर्तन, चाँदी के पलंग, महंगे वस्त्र सबका त्याग कर दिया। इसकी जगह बांस की चारपाई, अल्मुनियम के नाममात्र के बर्तन, दो जोड़ी साधारण वस्त्र अपने व अपनी पत्नी के लिए रखे। शेष सम्पत्ति विद्यान्त हिन्दू कालेज की स्थापना में लगा दी.

वह सांस्कृतिक गतिविधियों में भी रुचि रखते थे। लखनऊ के कालीबाड़ी ट्रस्ट, बंगाली क्लब, श्री हरिसभा के वह आजीवन सदस्य रहे। वह अखिल भारतीय बंग साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष चुने गए। 1938 में विद्यान्त हिन्दू महाविद्यालय प्रांगण में दुर्गापूजा समारोह की शुरुआत की। यह लखनऊ की प्राचीनतम दुर्गा पूजा में से एक है। समारोह में प्रबंधक शिवशीष घोष,प्राचार्य प्रो धर्म कौर,साक्षी पत्रिका के सम्पादक डॉ बृजेश श्रीवास्तव सहायक सम्पादक डॉ श्रवण कुमार गुप्ता,डॉ सुरभि शुक्ला,प्रभारी वाणिज्य डॉ राजीव शुक्ला,प्रभारी कला डॉ बिजेंद्र पांडेय चीफ प्रॉक्टर डॉ अमित वर्धन,शिक्षक संघ अध्यक्ष मनीष सिंधवी
डॉ विजय यादव,डॉ नीतू सिंह,डॉ दीप किशोर श्रीवास्तव,डॉ शशि कांत त्रिपाठी,डॉ आलोक भरद्वाज,डॉ ध्रुव कुमार त्रिपाठी,डॉ उषा देवी,डॉ ममता भटनागर,डॉ अभिषेक वर्मा,डॉ आर के यादव,डॉ हनीफ मोहम्मद,डॉ बी बी यादव डॉ जितेंद्र पाल,डॉ संजय यादव,मीता चौधरी,सुरेंद्र कुमार मिश्र,विमल कुमार,सुनील श्रीवास्तव डॉ गीतेश गुप्ता,डॉ सौरभ पालीवाल,डॉ नीलिमा शुक्ला,डॉ शांतनु,डॉ कौटिल्य श्रीवास्तव,विश्वगीत आलोक शर्मा विभोर ऋषभ रंजन,अब्दुल बहादुर,श्रवण सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

पढ़ें :- UP Election 2022 : लखनऊ में क्रिटिकल बूथ, वल्नेबल बूथ, 2 बी बूथ व पिंक बूथ चिन्हित
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...