1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. बुलडोजर बाबा के निशाने पर 50 बड़े माफिया और उनकी 1200 करोड़ की संपत्ति, जानें कौन-कौन है सूची में शामिल

बुलडोजर बाबा के निशाने पर 50 बड़े माफिया और उनकी 1200 करोड़ की संपत्ति, जानें कौन-कौन है सूची में शामिल

उत्तरप्रदेश में माफियाओं के ऊपर नकेल कसने की प्रक्रिया को और ज्यादा मजबूती मिलने जा रही है। बाबा का बुलडोजर तांडव मचाने के लिए तैयार है। बता दें कि योगी सरकार पार्ट 2 में बुलडोजर का काम बढने जा रहा है। इस बार सरकार के निशाने पर 50 बड़े माफिया और उनकी 1200 करोड़ की संपत्ति है।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में माफियाओं के ऊपर नकेल कसने की प्रक्रिया को और ज्यादा मजबूती मिलने जा रही है। बाबा का बुलडोजर तांडव मचाने के लिए तैयार है। बता दें कि योगी सरकार पार्ट 2 में बुलडोजर का काम बढने जा रहा है। इस बार सरकार के निशाने पर 50 बड़े माफिया और उनकी 1200 करोड़ की संपत्ति है। सरकार की कोशिश है कि अगामी लोकसभा के चुनाव से पहले अपराध पर नकेल कसने की छवि को और भी मजबूत किया जाये। इसके तहत इस तरीके के बड़े कार्रवाई को अंजाम देने का फैसला सरकार के द्वारा किया जा रहा है।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

सूत्रों के मुताबिक सीएम योगी के सामने पुलिस ने जो प्रजेंटेशन दिया है उसमें कहा गया है कि 100 दिनों के भीतर 25 माफियाओं के बजाय 50 प्रमुख माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही की सप्तावार समीक्षा की जाएगी और कोर्ट में लंबित केसों में अगले 100 दिन में दोष सिद्ध कराया जाएगा। खनन, शराब, पशु, वन, भू-माफिया को चिन्हित करके धारा 14 (1) गैंगस्टर ऐक्ट के तहत 500 करोड़ रुपए की जब्तीकरण का लक्ष्य रखा गया है। टॉप 10 अपराधियों को चिह्नित करके पूरे प्रदेश में लगभग 15 हजार अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यूपी पुलिस ने छह महीने में गैंगस्टर एक्ट के तहत 800 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त करने का लक्ष्य रखा है। सभी जिलों में शाम के समय बाजारों और भीड़ वाले स्थानों पर पुलिस की फुट पेट्रोलिंग बढ़ाई जाएगी। प्रदेश के 10 जिलों में हाईटेक लॉ एंड ऑर्डर क्यूआरटी टीम स्थापित की जाएगी। आतंकवाद निरोधक बल (एटीएस) ने कहा है कि अगले 100 दिनों में देश विरोधी गतिविधियों जैसे अवैध धर्मांतरण, आतंकवाद, नक्सलवाद, अवैध शस्त्र तस्करी, टेरर फंडिंग, आईएसआई पाक अजेंट, स्लीपर सेल्स, ऑनलाइन रेडिक्लाइजेशन, अवैध अप्रवासी रोहिंग्या/बांग्लादेशियों व अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी सिंडिकेट के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...