1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. 6th Eastern Economic Forum: पीएम मोदी बोले- India-Russia की दोस्ती कोरोनाकाल में भी खरी उतरी

6th Eastern Economic Forum: पीएम मोदी बोले- India-Russia की दोस्ती कोरोनाकाल में भी खरी उतरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रूस में आयोजित हो रहे छठे इस्टर्न इक्नामिक फोरम (ईईएफ) को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मुझे ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम को संबोधित करते हुए खुशी हो रही है और इस सम्मान के लिए राष्ट्रपति पुतिन को धन्यवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि भारत रूस का एक विश्वसनीय भागीदार है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

मॉस्को: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज रूस में आयोजित हो रहे छठे इस्टर्न इक्नामिक फोरम (eef) को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मुझे ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (Eastern Economic Forum)को संबोधित करते हुए खुशी हो रही है और इस सम्मान के लिए राष्ट्रपति पुतिन को धन्यवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि भारत रूस का एक विश्वसनीय भागीदार है।

पढ़ें :- बेटियां शिक्षित होकर  माता-पिता का नाम  कर रही हैं रोशन : सतीश चन्द्र द्विवेदी
Jai Ho India App Panchang

इकोनॉमिक गतिविधियों (economic activities) को बढ़ावा देने शुक्रवार को रूस में छठवां पूर्वी आर्थिक मंच(इस्टर्न इक्नामिक फोरम-EEF) की बैठक हो रही है। यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हो रही है। इसमें भारत के अलावा चीन, अर्जेंटीना और थाइैंड के नेता शामिल हुए हैं। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन, कजाखस्तान और मंगालिया के राष्ट्रपति भी इसमें शामिल हुए हैं। हालांकि बैठक में शामिल होने पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री( Petroleum & Natural Gas) हरदीप सिंह पुरी रूस में हैं।

पढ़ें :- Punjab Breaking: सिद्धू के बाद चन्नी कैबिनेट से रजिया सुल्ताना ने दिया इस्तीफा, कांग्रेस को लगा झटका

 

प्रधानमंत्री ने कहा-मेरे नजर में व्लादिवोस्तोक वास्तव में यूरेशिया और प्रशांत का ‘संगम’ है। मैं रूसी सुदूर पूर्व के विकास के लिए राष्ट्रपति पुतिन के दृष्टिकोण की सराहना करता हूं। इस विज़न को साकार करने में भारत रूस का एक विश्वसनीय भागीदार होगा। मुझे ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम को संबोधित करते हुए खुशी हो रही है और इस सम्मान के लिए राष्ट्रपति पुतिन को धन्यवाद देता हूं। भारतीय इतिहास और सभ्यता में ‘संगम’ का एक विशेष अर्थ है। इसका अर्थ नदियों/लोगों/विचारों का संगम या एक साथ आना है।

गौरतलब है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन हर साल इस्टर्न इक्नामिक फोरम का आय़ोजन कराते हैं। इस्टर्न इक्नामिक फोरम कल यानी दो सितंबर को रूस के व्लादिवोस्तोक में शुरू हुआ था और ये 4 सितंबर तक चलेगा। इस फोरम का मुख्य उद्देश्य एशिया प्रशांत क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग का विस्तार और आर्थिक विकास का समर्थन करना है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...