1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Afghanistan Crisis:पंजशीर में तालिबान को बड़ा झटका, मारे गए 300 तालिबानी लड़ाके

Afghanistan Crisis:पंजशीर में तालिबान को बड़ा झटका, मारे गए 300 तालिबानी लड़ाके

काबुल:अफगानिस्तान (Afghanistan)  में कब्जे के बाद तालिबान (Taliban) सरकार बनाने की तैयारी में जुटा है। राष्ट्रपति अशरफ गनी (President Ashraf Ghani) बेशक देश छोड़कर भाग गए हों, मगर उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह (Vice President Amarulla Saleh) अभी भी तालिबान से लड़ाई लड़ रहे हैं।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Afghanistan Crisis: काबुल:अफगानिस्तान (Afghanistan)  में कब्जे के बाद तालिबान (Taliban) सरकार बनाने की तैयारी में जुटा है। राष्ट्रपति अशरफ गनी (President Ashraf Ghani) बेशक देश छोड़कर भाग गए हों, मगर उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह (Vice President Amarulla Saleh) अभी भी तालिबान से लड़ाई लड़ रहे हैं। पंजशीर को कब्जाने की तालिबान की कोशिश को करारा झटका लगा है। विद्राहियों ने 300 से ज्यादा तालिबानी इलाकों को मार गिराया है। पंजशीर में विद्रोहियों की फौज मौजूद है। ताबिलान के लड़ाकों को ढेर करने के साथ ही विद्रोहियों ने उनकी सप्लाई चेन को भी कब्जे में ले लिया है।

पढ़ें :- विदेश से भारत आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी, अब करना होगा ये काम

तालिबानी लड़ाके पंजशीर इलाके को कब्जाने के लिए उस पर हमला करने गए थे। वहां घात लगाकर विद्रोहियों ने हमला बोल दिया। जानकारी के मुताबिक, तालिबान ने कारी फसीहुद दीन हाफिजुल्लाह के नेतृत्व में पंजशीर पर हमला करने के लिए सैकड़ों लड़ाके भेजे थे, लेकिन बगलान प्रांत की अंदराब घाटी में घात लगाकर बैठे पंजशीर के विद्रोहियों ने उन पर हमला कर दिया। खबरों के अनुसार कि इस हमले में 300 से ज्यादा तालिबानी लड़ाके ढेर हो गए हैं। खास बात यह है कि तालिबान का सप्लाई रूट भी ब्लॉक हो गया है।

पंजशीर (Panjshir)  में तालिबान से जंग जारी है। कई ऐसे इलाके हैं जहां के लोग इस खूंखार आतंकी संगठन के खिलाफ लोग विद्रोह का झंडा उठाए हुए हैं। इन्हीं में से एक है नॉर्दन अलायंस (Northern Alliance) के पूर्व कमांडर अहमद शाह मसूद (Former Commander Ahmed Shah Masood) का गढ़ पंजशीर घाटी (Panjshir Valley) । एक तरफ जहां राष्ट्रपति अशरफ गनी काबुल पर तालिबान के कब्जे के बाद देश छोड़कर फरार हो गए। वहीं उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह (Vice President Amrullah Saleh) अपने गढ़ यानी पंजशीर प्रांत (Panjshir Province) चले गए।

खबरों के अनुसार, इन विद्रोहियों में अफगान नेशनल आर्मी के सैनिकों की बड़ी संख्या है। इस गुट का नेतृत्व नॉर्दन एलायंस ने चीफ रहे पूर्व मुजाहिदीन कमांडर अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद कर रहे हैं। उनके साथ पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह और बल्ख प्रांत के पूर्व गवर्नर की सैन्य टुकड़ी भी मौजूद है।

पढ़ें :- Priyanka Gandhi Vadra समेत चार लोगों को यूपी पुलिस ने आगरा जाने की दी इजाजत, गतिरोध खत्म
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...