1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Akhilesh Yadav की बेरुखी से टूटा आजम का दिल, उपेक्षा का बदला लेना ही है अगला लक्ष्य

Akhilesh Yadav की बेरुखी से टूटा आजम का दिल, उपेक्षा का बदला लेना ही है अगला लक्ष्य

सीतापुर जेल में करीब ढाई साल से बंद आजम खान तबियत खराब होने का बहाना बनकर रविवार को सपा प्रतिनिधिमंडल को बैरंग वापस कर दिया है। आजम खान ने अखिलेश यादव को बड़ा कड़ा संदेश दिया है। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के तरफ से दरकिनार किए जाने से नाराज आजम खान ने सपा नेताओं से मुलाकात से इनकार कर कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। सीतापुर जेल में करीब ढाई साल से बंद आजम खान तबियत खराब होने का बहाना बनकर रविवार को सपा प्रतिनिधिमंडल को बैरंग वापस कर दिया है। आजम खान ने अखिलेश यादव को बड़ा कड़ा संदेश दिया है। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के तरफ से दरकिनार किए जाने से नाराज आजम खान ने सपा नेताओं से मुलाकात से इनकार कर कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

पढ़ें :- प्रदेश में अब ठंड का सितम कम, इन शहरों में 33 डिग्री सेल्सियस रहेगा तापमान

माना जा रहा है कि आजम खान अब अखिलेश यादव की दलीलें सुनने को तैयार नहीं हैं। आजम के इस रुख से अब साफ हो गया है कि वह अपना अंतिम फैसला ले चुके हैं। खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर सपा नेताओं से मुलाकात से इनकार कर चुके आजम खान ने हाल ही में शिवपाल यादव से एक घंटे से अधिक समय तक बातचीत की थी।

शिवपाल और आजम खान की मुलाकात के बाद से ही अटकलें हैं कि दोनों नेता एक साथ किसी नए मोर्चे का ऐलान कर सकते हैं। दोनों ही नेताओं की सपा कार्यकर्ताओं पर बेहद मजबूत पकड़ है। दोनों ही अखिलेश यादव से बेहद नाराज हैं। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक, इस समय दोनों नेताओं का एक ही लक्ष्य है, अखिलेश से अपनी उपेक्षा का बदला लेना।

डैमेज कंट्रोल की अखिलेश की रणनीति हुई फेल

विधानसभा चुनाव नतीजों के ठीक बाद से सपा में बगावत की आवाज तेज हो चुकी है। शुरुआत में तो अखिलेश यादव इसे बेहद हल्के में लिया, लेकिन चाचा शिवपाल की आजम खान से मुलाकात के बाद अचानक वह एक्टिव हुए हैं। उन्होंने पार्टी के कुछ नेताओं को संदेश देकर सीतापुर जेल भेजा, लेकिन आजम खान की सहमति नहीं मिलने की वजह से उनकी रणनीति फेल होती नजर आई है। बता दें कि आजम खान की नाराजगी इस बात को लेकर है कि खुद अखिलेश मिलने के लिए नहीं आए, बल्कि पार्टी के कुछ नेताओं को मिलने के भेजा।

पढ़ें :- निचलौल में हो रहे 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में स्काउट गाइड की भूमिका अहम

 

अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, बोले- लड़ेंगे कानूनी लड़ाई

इसके बाद सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आजम खान के मसले पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि सपा आजम खान के  साथ है। उन्होंने कहा कि आजम खान की जमानत कराने के लिए हम लोग प्रयास कर रहे हैं। उनके लिए कानूनी लड़ाई लड़ी जाएगी। अखिलेश यादव ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सपा नेता रविदास मेहरोत्रा के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल को आजम खान से मिलने सीतापुर जेल भेजा था, लेकिन आजम खान ने उनसे मिलने से इनकार कर दिया। अखिलेश ने कहा कि मुझे कोई जानकारी नहीं है। हाल ही में शिवपाल यादव आजम खां से मुलाकात कर चुके हैं उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में यह भी कहा था कि अगर मुलायम व अखिलेश यादव चाह लेते तो आजम खान की जमानत हो जाती। सपा अध्यक्ष ने कहा कि मुझे नहीं मालूम उनसे मिलने कौन गया, इस बाबत कोई जानकारी नहीं है।

Azam Khan

पढ़ें :- Parag Milk Prices Increased: महंगाई का एक और बड़ा झटका, अमूल के बाद पराग ने भी बढ़ाए दूध के दाम
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...