1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Hijab Controversy : साध्वी प्रज्ञा बोलीं- जिनके घर में ही शील और मर्यादा खतरे में है उन्हें हिजाब पहनना चाहिए

Hijab Controversy : साध्वी प्रज्ञा बोलीं- जिनके घर में ही शील और मर्यादा खतरे में है उन्हें हिजाब पहनना चाहिए

Hijab Controversy: देश भर में हिजाब को लेकर जगह-जगह विरोध प्रदर्शन जारी है। इसके बीच भोपाल से बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (BJP MP Sadhvi Pragya Thakur) का बड़ा बयान गुरुवार को सामने आया है। उन्होंने कहा कि हिंदू इतना श्रेष्ठ, इतना संस्कारी और उच्च विचारधारा का होता है कि उसे कहीं भी हिजाब पहनने की जरूरत नहीं होती है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Hijab Controversy: देश भर में हिजाब को लेकर जगह-जगह विरोध प्रदर्शन जारी है। इसके बीच भोपाल से बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (BJP MP Sadhvi Pragya Thakur) का बड़ा बयान गुरुवार को सामने आया है। उन्होंने कहा कि हिंदू इतना श्रेष्ठ, इतना संस्कारी और उच्च विचारधारा का होता है कि उसे कहीं भी हिजाब पहनने की जरूरत नहीं होती है।

पढ़ें :- रामपुर व आजमगढ़ सदर लोकसभा सीट पर खिला कमल, योगी ने जताया जनता का आभार

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Sadhvi Pragya Thakur)ने हिजाब उन्हें पहनना चाहिए कि जिनको अपने घर में ही परेशानी है। उन्होंने कहा कि जो घर में ही वो संकट में और खतरे हैं। उनके घर में ही उनकी शील और मर्यादा खतरे में हैं। इसलिए उनको घर में ​ही हिजाब पहनना चाहिए। साध्वी ने कहा कि बाहर पहनने की जरूरत नहीं है। जहां ज्ञान प्राप्त होता है, जहां अध्ययन किया जाता है। वहां पहनने की बिल्कुल जरूरत नहीं है।

साध्वी ने कहा कि पर्दा उससे करना चाहिए, जो हमारी तरफ कुदृष्टि रखता है। यह बात निश्चित है कि हिंदू कुदृष्टि नहीं रखते। यह सनातन की संस्कृति है कि नारी की पूजा की जाती है। हमारे यहां देवताओं को भी जब जरूरत होती है तो दुष्टों को मारने के लिए देवी का आह्वान किया जाता है। यहां मां, पत्नी का स्थान सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि जहां नारी का इतना श्रेष्ठ स्थान है, वहां पर हिजाब पहनने की जरूरत है क्या? भारत में हिजाब में पहनने की जरूरत नहीं है।

बता दें कि कर्नाटक के उडुपी के एक सरकारी प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज की कक्षा में हिजाब पहनकर आई छात्राओं को कॉलेज परिसर से बाहर चले जाने को कहा गया था। इसके बाद इस मुद्दे ने तूल पकड़ लिया। हालात ये हैं कि यह मुद्दा अब देश के विभिन्न हिस्सों में भी फैल गया है। दक्षिणपंथी संगठनों की ओर से समर्थित युवा हिन्दू भगवा गमछा डालकर इस मामले में कूद पड़े। कई जगह हिंसा की घटना भी सामने आई हैं।

पढ़ें :- गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, आरोप लगाने वाले पीएम मोदी से मांगे माफी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...