HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. कहिए तो आपके पैर छू लें…नीतीश कुमार का वायरल हुआ वीडियो, तेजस्वी बोले-शासक में आत्मविश्वास ना रहे तब उसे…

कहिए तो आपके पैर छू लें…नीतीश कुमार का वायरल हुआ वीडियो, तेजस्वी बोले-शासक में आत्मविश्वास ना रहे तब उसे…

तेजस्वी यादव ने एक्स पर वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि, पूरे विश्व में इतना असहाय,अशक्त,अमान्य,अक्षम, विवश, बेबस, लाचार और मजबूर कोई ही मुख्यमंत्री होगा जो BDO, SDO, थानेदार से लेकर वरीय अधिकारियों और यहां तक कि संवेदक के निजी कर्मचारी के सामने बात-बात पर हाथ जोड़ने और पैर पड़ने की बात करता हो?

By शिव मौर्या 
Updated Date

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे वीडियो में नीतीश कुमार इंजीनियर से कह रहे हैं कि, कहिए तो आपके पैर छू लें। इतना कहते हुए नीतीश कुमार आगे बढ़ने लगते हैं, जिसके बाद इंजीनियर पीछे हटते हुए उनसे ऐसा नहीं करने की विनती करता है। मुख्यमंत्री का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद तेजस्वी यादव ने निशाना साधा है।

पढ़ें :- महिलाओं पर ओछी, असभ्य, अशिष्ट एवं निम्नस्तरीय टिप्पणियां करना सीएम नीतीश कुमार की आदत में शुमार हो चुका है: तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव ने एक्स पर वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि, पूरे विश्व में इतना असहाय,अशक्त,अमान्य,अक्षम, विवश, बेबस, लाचार और मजबूर कोई ही मुख्यमंत्री होगा जो BDO, SDO, थानेदार से लेकर वरीय अधिकारियों और यहां तक कि संवेदक के निजी कर्मचारी के सामने बात-बात पर हाथ जोड़ने और पैर पड़ने की बात करता हो?

उन्होंने आगे लिखा कि, बिहार में बढ़ते अपराध, बेलगाम भ्रष्टाचार, पलायन एवं प्रशासनिक अराजकता का मुख्य कारण यह है कि एक कर्मचारी तक (अधिकारी तो छोड़िए) मुख्यमंत्री की नहीं सुनता? क्यों नहीं सुनता और क्यों नहीं आदेशों का पालन करता, यह विचारनीय विषय है? हालांकि इसमें कर्मचारी व अधिकारियों का अधिक दोष भी नहीं है। एक कमजोर बेबस मुख्यमंत्री के कारण “बिहार में होना वही है जो “चंद” सेवारत और “सेवानिवृत्त” अधिकारियों ने ठाना है” क्योंकि अधिकारी भी जानते है कि ये 43 सीट वाली तीसरे नंबर की पार्टी के मुख्यमंत्री हैं।

साथ ही लिखा कि, जब शासन में इक़बाल खत्म हो जाए हो और शासक में आत्मविश्वास ना रहे तब उसे सिद्धांत,जमीर और विचार किनारे रख ऊपर से लेकर नीचे तक बात-बात पर ऐसे ही पैर पड़ना पड़ता है। बहरहाल हमें कुर्सी की नहीं बल्कि बिहार और 14 करोड़ बिहारवासियों के वर्तमान और भविष्य की चिंता है।

 

पढ़ें :- पेपर लीक किया तो अब खैर नहीं, बिहार विधानसभा में एंटी पेपर लीक बिल पास, जानें कितने साल की होगी सजा?

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...