1. हिन्दी समाचार
  2. बिज़नेस
  3. Manasi Tata के हाथ किर्लोस्कर की कमान, कंपनी का कृषि और आधुनिकीकरण में बड़ा योगदान

Manasi Tata के हाथ किर्लोस्कर की कमान, कंपनी का कृषि और आधुनिकीकरण में बड़ा योगदान

 इनोवा-फॉर्च्यूनर जैसी ताकतवर वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा की कमान टाटा परिवार की बहू के हाथों में आ गई है। दरअसल, विक्रम किर्लोस्कर की मौत के बाद किर्लोस्कर समूह ने कंपनी की बागडोर मानसी टाटा को सौंप दी है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Manasi Tata: इनोवा-फॉर्च्यूनर जैसी ताकतवर वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा की कमान टाटा परिवार की बहू के हाथों में आ गई है। दरअसल, विक्रम किर्लोस्कर की मौत के बाद किर्लोस्कर समूह ने कंपनी की बागडोर मानसी टाटा को सौंप दी है। किर्लोस्कर सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड ने अपनी एक संयुक्त उद्यम कंपनी में मानसी टाटा को निदेशक के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की है। संयुक्त उद्यम कंपनियों में टोयोटा इंडस्ट्रीज इंजन इंडिया, किर्लोस्कर टोयोटा टेक्‍सटाइल मशीनरी, टोयोटा मैटेरियल हैंडलिंग इंडिया और डेंसो किर्लोस्कर इंडस्ट्रीज शामिल हैं। आपको बता दें कि नवंबर 2022 में विक्रम किर्लोस्कर का निधन हो गया था। इसके बाद से कंपनी की कमान किसी युवक के हाथ में दिए जाने के कयास लगाए जा रहे थे।

पढ़ें :- भारत में ट्विटर पर ब्लू टिक के लिए चुकाने होंगे इतने रुपए प्रति महीना, लगेगा सर्विस चार्ज

 

 

आइलैंड स्कूल ऑफ डिजाइनिंग से ग्रेजुएशन किया
बता दें कि 32 साल की मानसी ने अमेरिका के रोड आइलैंड स्कूल ऑफ डिजाइनिंग से ग्रेजुएशन किया है। पढ़ाई शुरू करने के बाद से ही वह अपने पिता विक्रम किर्लोस्कर के बिजनेस में मदद कर रही थी। वह पहले से ही अपने पिता की कंपनी के कार्यकारी निदेशक और सीईओ हैं। साल 2019 में उन्होंने नोएल टाटा के बेटे नेविल टाटा से शादी की। जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि नोएल टाटा रतन टाटा के सौतेले भाई हैं।

पढ़ें :- Adani-Hindenburg Row : हिंडनबर्ग रिसर्च रिपोर्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट सुनवाई को तैयार, SIT जांच की मांग पर सुनवाई कल

 ‘केयरिंग विद कलर’
मानसी को पेंटिंग का बहुत शौक है। मात्र 13 साल की उम्र में उन्होंने अपनी पहली पेंटिंग प्रदर्शनी लगाई थी। पेंटिंग के अलावा मानसी को स्विमिंग का भी काफी शौक है। इसके अलावा, वह एक एनजीओ ‘केयरिंग विद कलर’ चलाती हैं और कर्नाटक के तीन जिलों में सरकारी स्कूलों के साथ काम करती हैं।

कृषि और आधुनिकीकरण में बड़ा योगदान
बता दें कि किर्लोस्कर समूह ने 1900 के दशक में अपने पहले उत्पादों के रूप में लोहे के हल और भूसा कटर बनाना शुरू किया था। किर्लोस्कर समूह ने 130 से अधिक वर्षों के लिए कृषि क्षेत्र में कृषि और आधुनिकीकरण के लिए बहुत बड़ा योगदान दिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...