1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मायावती ने मोदी सरकार को घेरा, कहा-लोकसभा चुनाव से पहले 10 लाख भर्ती की घोषणा कहीं नया चुनावी छलावा तो नहीं है?

मायावती ने मोदी सरकार को घेरा, कहा-लोकसभा चुनाव से पहले 10 लाख भर्ती की घोषणा कहीं नया चुनावी छलावा तो नहीं है?

बेरोजगारी के मुद्दे पर भाजपा सरकार पर विपक्ष लगातार हमले करती रहती है। इन सबके बीच केंद्र सरकार ने डेढ़ साल में 10 लाख पदों पर भर्ती का ऐलान किया है। मोदी सरकार के इस ऐलान के बाद विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने इसको लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। बेरोजगारी के मुद्दे पर भाजपा सरकार पर विपक्ष लगातार हमले करती रहती है। इन सबके बीच केंद्र सरकार ने डेढ़ साल में 10 लाख पदों पर भर्ती का ऐलान किया है। मोदी सरकार के इस ऐलान के बाद विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने इसको लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।

पढ़ें :- लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारी में जुटी बसपा, मंडलों के पदाधिकारियों के साथ बैठकर दिया ये निर्देश

साथ ही इसे चुनावी छलावा बताया है। मायावती (Mayawati) ने केंद्र सरकार के इन दावों के बाद ट्वीट कर निशाना साधा है। मायावती ने लिखा है कि, ‘केन्द्र की गलत नीतियों व कार्यशैली के कारण गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी व रुपए का अवमूल्यन आदि अपने चरम पर है, जिससे सभी त्रस्त व बेचेन हैं, तब केन्द्र ने अब अगले डेढ़ वर्ष में अर्थात लोकसभा आमचुनाव से पहले 10 लाख भर्ती की घोषणा की है जो यह कहीं नया चुनावी छलावा तो नहीं है?’

इसके साथ ही मायावती  (Mayawati) ने लिखा है कि, ‘एससी, एसटी व ओबीसी वर्गों के इससे कई गुणा अधिक सरकारी पद वर्षों से रिक्त पड़े हैं जिनको विशेष अभियान चलाकर भरने की मांग बीएसपी संसद के अन्दर व बाहर भी लगातार करती रही है। उनके बारे में सरकार चुप है जबकि यह समाज गरीबी व बेरोजगारी आदि से सर्वाधिक दुःखी व पीड़ित है।’

बता दें कि, बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र और भाजपा सरकार पर विपक्ष लगातार निशाना साधती रहती है। चुनाव में भी विपक्ष इस मुद्दे को जोरशोर से उठाती है। वहीं, अब लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने रोजगार को लेकर बड़ा ऐलान किया है।

पढ़ें :- आजमगढ़ में मिली हार के बाद भी क्यों उत्साहित है बसपा? मायावती ने कहा-2024 लोकसभा चुनाव के लिए संघर्ष जारी रहेगा

 

 

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...