HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. हाथरस कांड पर SIT Report राजनीति से प्रेरित, भोले बाबा को पूरे घटनाक्रम में क्लीनचिट देने का प्रयास चिंताजनक: मायावती

हाथरस कांड पर SIT Report राजनीति से प्रेरित, भोले बाबा को पूरे घटनाक्रम में क्लीनचिट देने का प्रयास चिंताजनक: मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने हाथरस कांड पर पेश की गई एसआईटी रिपोर्ट (SIT Report) को राजनीति से प्रेरित बताया है। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट में मुख्य आयोजक भोले बाबा (Main Organiser Bhole Baba) पर खामोशी चिंता का कारण है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने हाथरस कांड पर पेश की गई एसआईटी रिपोर्ट (SIT Report) को राजनीति से प्रेरित बताया है। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट में मुख्य आयोजक भोले बाबा (Main Organiser Bhole Baba) पर खामोशी चिंता का कारण है। पूरे घटनाक्रम में उसे क्लीनचिट देने का प्रयास किया गया है।

पढ़ें :- Name Plate Controversy : रहमान को अपनी पहचान बताने में दिक्कत क्यूं? नेमप्लेट विवाद पर योग गुरु रामदेव का बड़ा बयान

उन्होंने सोशल मीडिया साइट एक्स पर कहा कि यूपी के जिला हाथरस में सत्संग भगदड़ कांड में हुई 121 निर्दोष महिलाओं व बच्चों की दर्दनाक मौत सरकारी लापरवाही का जीता-जागता प्रमाण है किन्तु एसआईटी (SIT)  द्वारा सरकार को पेश रिपोर्ट घटना की गंभीरता के हिसाब से नहीं होकर राजनीति से प्रेरित ज्यादा लगती है। यह अति-दुःखद है।

पढ़ें :- CM Yogi Big Decision : कांवड़ रूट पर दुकान संचालकों को लिखना होगा नाम, हलाल प्रोडक्ट बेचा तो होगा एक्शन

उन्होंने कहा कि इस अति-जानलेवा घटना के मुख्य आयोजक भोले बाबा (Main Organiser Bhole Baba)  की भूमिका के सम्बंध में एसआईटी (SIT)  की खामोशी भी लोगों में चिन्ताओं का कारण है। साथ ही, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के बजाय उसे क्लीनचिट देने का प्रयास खासा चर्चा का विषय है। उन्होंने कहा कि सरकार जरूर ध्यान दे ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृति न हो। मामले की जांच के लिए बनाई गई एसआईटी (SIT) ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है। इसके आधार पर एसडीएम, सीओ, एसओ व तहसीलदार समेत छह अफसरों को निलंबित कर दिया गया है।

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर हादसे में 18 की मौत पर मायावती ने जताया दुख

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर स्लीपर बस और टैंकर की जोरदार भिड़न्त में दो महिलाओं व एक बच्चे सहित 18 लोगों की मौत तथा लगभग 20 लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की घटना अति-दुःखद। मेरी गहरी संवेदना। ऐसी दुर्घटनाओं में लोगों की मौतों को रोकने के उपाय जरूर किए जाएं।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...