HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. तकनीक
  3. सौर-तूफान मोबाइल और इंटरनेट सिस्टम पर डालेगा प्रभाव; एलन मस्क बोले- स्टारलिंक सैटेलाइट बहुत दबाव में…

सौर-तूफान मोबाइल और इंटरनेट सिस्टम पर डालेगा प्रभाव; एलन मस्क बोले- स्टारलिंक सैटेलाइट बहुत दबाव में…

Geomagnetic Solar Storm: एक मजबूत सौर तूफान यानी भू-चुंबकीय तूफान (Geomagnetic Solar Storm) पृथ्वी से टकराया है। जिससे नेविगेशन, संचार और रेडियो सिग्नलों पर बुरा असर पड़ने की आशंका जतायी जा रही है और इसका असर पूरे हफ्ते जारी रह सकता है। इस तूफान को 2003 के बाद से सबसे खतरनाक तूफान माना जा रहा है।

By Abhimanyu 
Updated Date

Geomagnetic Solar Storm: एक मजबूत सौर तूफान यानी भू-चुंबकीय तूफान (Geomagnetic Solar Storm) पृथ्वी से टकराया है। जिससे नेविगेशन, संचार और रेडियो सिग्नलों पर बुरा असर पड़ने की आशंका जतायी जा रही है और इसका असर पूरे हफ्ते जारी रह सकता है। इस तूफान को 2003 के बाद से सबसे खतरनाक तूफान माना जा रहा है।

पढ़ें :- बच्चों के लिए खतरनाक है Social Media, हर हाल में रखें दूर : एलन मस्क

दरअसल, सूर्य की सतह पर कोरोनल मास इजेक्शन (Coronal Mass Ejection) यानी विशाल विस्फोट होते हैं। जिसके कारण ऊर्जावान कणों की धाराएं अंतरिक्ष में पहुंचती है और जब ये कण जब पृथ्वी तक पहुंचते हैं तो चुंबकीय क्षेत्र (Magnetic Field) में गड़बड़ी पैदा करते हैं। जिसे भू-चुंबकीय तूफान (Geomagnetic Solar Storm) कहा जाता है। इस तूफान का असर कम्युनिकेशन सिस्टम, जीपीएस और इलेक्ट्रिसिटी पर पड़ सकता है और कई घंटों तक हाई फ्रीक्वेंसी रेडियो ब्लैकआउट की घटना घट सकती है।

एलन मस्क (Elon Musk) ने अपने एक्स पोस्ट में जियोमैग्नेटिक सौर-तूफान (geomagnetic solar storm) को लंबे समय बाद एक बड़ा तूफान बताया है। उन्होंने 9 मई 2024 को शुरू हुए जियोमैग्नेटिक सौर-तूफान का तीन घंटों का डेटा शेयर किया है। मस्क ने स्पेस वैदर प्रिडिक्शन का चार्ट दिखाया गया है। जिसमें जियोमैग्नेटिक सौर-तूफान की फ्रिक्वेंसी दिखाई गई है। उन्होंने कहा कि स्टारलिंक सैटेलाइट बहुत दबाव में है। हालांकि, हम अभी भी टिके हुए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...