Nirjala Ekadashi News in Hindi

Nirjala Ekadashi 2022 : निर्जला एकादशी के दिन व्रती फर्श पर सोएं, भगवान विष्णु की पूजा से मिलता है मोक्ष

Nirjala Ekadashi 2022 : निर्जला एकादशी के दिन व्रती फर्श पर सोएं, भगवान विष्णु की पूजा से मिलता है मोक्ष

Nirjala Ekadashi 2022 : एकादशी व्रत में श्रेष्ठ निर्जला एकादशी व्रत भगवान विष्णु को प्रसन्न करने का सबसे शुभ ति​​थि् है। जीवन में जन्म मरण के चक्र से मुक्ति पाने के लिए श्री ​हरि विष्णु की अराधना की जाती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार,  इस व्रत का पाने करने से

Nirjala Ekadashi 2022 : इस दिन है निर्जला एकादशी, भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना की जाती है

Nirjala Ekadashi 2022 : इस दिन है निर्जला एकादशी, भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना की जाती है

Nirjala Ekadashi 2022 : एकादशी का व्रत भगवान विष्णु को समर्पित है। जीवन के कष्ट और बाधाओं से मुक्ति पाने के भगवान श्री ​हरि की पूजा अर्चना की जाती है। भैतिक मनोकानओं की पूर्ती के लिए भगवान विष्णु और मां लछमी की पूजा की जाती है। भगवान विष्णु की पूजा

एकादशी : जानिए एकादशी व्रत कथा का महत्व, मुहूर्त, कथा और पारण का समय

एकादशी : जानिए एकादशी व्रत कथा का महत्व, मुहूर्त, कथा और पारण का समय

हिंदू धर्म में एकादशी तिथि का विशेष महत्व माना गया है। भाद्रपद मास की एकादशी अजा एकादशी के नाम से जनमानस में प्रचलित है। इस दिन व्रत का करने वालों को सुबह सूर्योदय से पहले उठकर स्नानादि से निवृत्त होकर साफ-सुथरे वस्त्र धारण करके पूजा स्थल की साफ-सफाई करने के

Nirjala Ekadashi: निर्जला एकादशी व्रत आज ,जानें पारण का शुभ मुहूर्त और महत्व

Nirjala Ekadashi: निर्जला एकादशी व्रत आज ,जानें पारण का शुभ मुहूर्त और महत्व

लखनऊ : भगवान विष्णु की पूजा अर्चना का विशेष महत्व है। भक्तों द्वारा विष्णु भगवान को प्रसन्न करने के लिए अनेकों व्रत अनुष्ठान किये जाते हैं। व्रतों में निर्जला एकादशी व्रत बहुत ही श्रेष्ठ है। पंचांग के अनुसार 21 जून 2021, सोमवार को ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी

हरिद्वार में गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी पर गंगा स्नान श्रद्धालुओं के लिए रद्द

हरिद्वार में गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी पर गंगा स्नान श्रद्धालुओं के लिए रद्द

देहरादून: गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी के मौके पर हरिद्वार में पतित पावनी गंगा में श्रद्धालु डुबकी नहीं लगा सकेंगे। इन दोनों मौके पर धर्म तीर्थ के पुरोहित और गंगा सभा के पदाधिकारी ही सांकेतिक स्नान कर सकेंगे।हरिद्वार में गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी के अवसर पर 20 जून और