1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. अमेरिकी राज्य मिनेसोटा में ‘सोने की मछली’ ने मचाया तहलका, प्रशासन ने जारी की चेतावनी

अमेरिकी राज्य मिनेसोटा में ‘सोने की मछली’ ने मचाया तहलका, प्रशासन ने जारी की चेतावनी

एक मछली इन दिनों अमेरिकी राज्य मिनेसोटा में चर्चा का विषय बनी हुई है। मछली को लेकर प्रशासन ने चेतावनी त​क जारी कर दिया है। अमेरिका में मिनेसोटा के लोग 'सोने की मछली' यानि गोल्डेन फिश को तालाबों में फेंक रहे हैं।

By अनूप कुमार 
Updated Date

The Gold Fish Created Panic In The Us State Of Minnesota The Administration Issued A Warning

वॉशिंगटन: एक मछली इन दिनों अमेरिकी राज्य मिनेसोटा में चर्चा का विषय बनी हुई है। मछली को लेकर प्रशासन ने चेतावनी त​क जारी कर दिया है। अमेरिका में मिनेसोटा के लोग ‘सोने की मछली’ यानि गोल्डेन फिश को तालाबों में फेंक रहे हैं। जिसके बाद प्रशासन को चेतावनी जारी करनी पड़ी है। दरअसल, औसत गोल्ड फिश, जब छोटे एक्वैरियम में रखी जाती है, तो वो दो इंच से ज्यादा लंबी नहीं होती है, लेकिन मिनेसोटा के बर्न्सविले शहर में अधिकारी उस वक्त चौंक गये, जब उन्हें फुटबॉल के आकार के दुर्लभ सोने की मछलियां मिलीं। गोल्ड फिश बेहद खतरनाक मछली मानी जाती है,जो पर्यावरण के लिए ये काफी घातक होती हैं।

पढ़ें :- टोक्यो ओलंपिक: जिस दिन का सबको था इंतजार ना जानें कितने पदक भारत लायेगा यार, वो घड़ी आ गई आ गई...

मिनिसोटा राज्य के बर्न्सविले शहर के केलर झील के एक सर्वेक्षण के दौरान कई गोल्डेन फिश को पकड़ा गया है और फुटबॉल के आकार के इन सोने की मछलियों को देखकर खुद मत्स्य विभाग हैरान-परेशान है। पहले इतनी बड़ी बड़ी गोल्डेन फिश नहीं देखी गई हैं।

प्रशासन की तरफ से ट्वीट करते हुए कहा गया है कि ”गोल्डेन फिश पर्यावरण को खराब करने का काम करती हैं, इसीलिए आप छोटी-छोटी पालतू और दुर्लभ गोल्डेन फिश को पानी में नहीं फेंके। आपकी उम्मीद से ज्यादा गोल्डेन फिश का विस्तार होता है और वो फुटबॉल के आकार तक वृद्धि कर सकती हैं। ये गोल्डेन फिश पानी की क्वालिटी को काफी जल्दी खराब कर देती हैं और पानी में कई अवांछित तत्वों को जन्म देती हैं, और हमें बड़ी बड़ी गोल्डेन फिश का पूरा ग्रुप मिला है।”

बता दें, मिनिसोटा शहर के एक्वारियम में शीशे के छोटे छोटे बर्तनों में छोटी छोटी गोल्डेन फिश बेची जाती हैं, लेकिन प्रशासन का कहना है कि ज्यादा जगह नहीं मिलने की वजह से उनका विकास नहीं हो पाता है। मिनेसोटा में गोल्डेन फिश को सार्वजनिक पोखर या झील में छोड़ना अवैध ठहराया गया है।

गोल्डेन फिश अपनी आबादी का तेजी से विस्तार करती हैं और इनकी प्रजनन क्रिया काफी तेज होती है।

पढ़ें :- अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी सत्ता छोड़ें, तभी तालिबान शांति समझौते पर करेगा बात

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X