HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Assam Flood: काजीरंगा नेशनल पार्क में 17 जानवर पानी में डूबे, 72 को किया गया रेस्क्यू

Assam Flood: काजीरंगा नेशनल पार्क में 17 जानवर पानी में डूबे, 72 को किया गया रेस्क्यू

Kaziranga National Park: भारत का पूर्वोत्तर राज्य असम इस वक्त भीषण बाढ़ (Flood) की चपेट में है। इस प्रकृति आपदा ने इंसानों के साथ-साथ वन्य जीवों के लिए भी मुसीबत खड़ी कर दी है। ताजा रिपोर्ट्स की माने तो राज्य में स्थित काजीरंगा नेशनल पार्क (Kaziranga National Park) में बाढ़ की वजह से 17 जंगली जानवर पानी में डूब गए हैं। जबकि 72 जानवरों को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया गया है।

By Abhimanyu 
Updated Date

Kaziranga National Park: भारत का पूर्वोत्तर राज्य असम इस वक्त भीषण बाढ़ (Flood) की चपेट में है। इस प्रकृति आपदा ने इंसानों के साथ-साथ वन्य जीवों के लिए भी मुसीबत खड़ी कर दी है। ताजा रिपोर्ट्स की माने तो राज्य में स्थित काजीरंगा नेशनल पार्क (Kaziranga National Park) में बाढ़ की वजह से 17 जंगली जानवर पानी में डूब गए हैं। जबकि 72 जानवरों को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया गया है।

पढ़ें :- Video: लखीमपुर खीरी में बाढ़ के हालातों का जायजा और पीड़ितों से मिलने ट्रैक्टर पर पहुंची कमिश्नर डॉ रोशन जैकब, DM दुर्गा शक्ति नागपाल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, असम के काजीरंगा नेशनल पार्क के 173 वन शिविर अभी भी बाढ़ से जूझ रहे हैं। एक अधिकारी ने बताया कि गैंडा, बछड़ा और हॉग हिरण समेत 17 जंगली जानवर बाढ़ के पानी में डूब गए हैं। वन अधिकारियों द्वारा रेस्क्यू गए 72 जानवरों में से 32 का इलाज चल रहा है और 25 अन्य को छोड़ दिया गया है। पार्क की क्षेत्र निदेशक सोनाली घोष ने के मुताबिक, पार्क अधिकारियों और वन विभाग ने 55 हॉग हिरण, दो ऊदबिलाव (शिशु), दो सांभर, दो स्कोप्स उल्लू, एक गैंडा बछड़ा, एक भारतीय खरगोश, एक जंगली बिल्ली को बचाया है।

बता दें कि असम में बुधवार को बाढ़ के पानी में डूबने से आठ लोगों की मौत हो गई। इसी के साथ राज्य में बाढ़ के कारण मरने वालों की संख्या 46 पहुंच चुकी है। राज्य के 24 बाढ़ प्रभावित जिलों में प्रशासन द्वारा स्थापित 515 राहत शिविरों और वितरण केंद्रों में 3.86 लाख से अधिक लोग शरण ले रहे हैं। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, अग्निशमन, इमरजेंसी सेवा, प्रशासन, भारतीय सेना और अर्धसैनिक बलों की रेस्क्यू टीमें विभिन्न इलाकों में बचाव अभियान में लगी हुई हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...