1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Karauli Violence : 4 अप्रैल तक जारी रहेगा कर्फ्यू ,घर से निकलने पर रोक, जानें क्या लगी हैं पाबंदियां

Karauli Violence : 4 अप्रैल तक जारी रहेगा कर्फ्यू ,घर से निकलने पर रोक, जानें क्या लगी हैं पाबंदियां

Karauli Violence : राजस्थान (Rajasthan) के करौली शहर (Karauli City) में शनिवार को हिन्दू नववर्ष (Hindu New Year) पर हिंदूवादी संगठनों (Hindutva organizations) की बाइक रैली पर पथराव के बाद बवाल हो गया था। इस उपद्रव के बाद हिंसा भड़क गई (violence broke out) थी। इस हिंसा में 35 से ज्यादा दुकानें जला दी गईं। वहीं आधा दर्जन से ज्यादा बाइक में तोड़फोड़ की गई। दो मोटरसाइकिलों को भी आग के हवाले कर दिया गया। हिंसा की स्थिति बिगड़ते देख राजस्थान  पुलिस (Rajasthan Police) ने मोर्चा संभाला और कर्फ्यू लगा दिया (Curfew will continue ) गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Karauli Violence : राजस्थान (Rajasthan) के करौली शहर (Karauli City) में शनिवार को हिन्दू नववर्ष (Hindu New Year) पर हिंदूवादी संगठनों (Hindutva organizations) की बाइक रैली पर पथराव के बाद बवाल हो गया था। इस उपद्रव के बाद हिंसा भड़क गई (violence broke out) थी। इस हिंसा में 35 से ज्यादा दुकानें जला दी गईं। वहीं आधा दर्जन से ज्यादा बाइक में तोड़फोड़ की गई। दो मोटरसाइकिलों को भी आग के हवाले कर दिया गया। हिंसा की स्थिति बिगड़ते देख राजस्थान  पुलिस (Rajasthan Police) ने मोर्चा संभाला और कर्फ्यू लगा दिया (Curfew will continue ) गया है।

पढ़ें :- Stock Market Crash : निवेशकों के डूबे 12 लाख करोड़ रुपये, बजट से पहले शेयर बाजार धराशायी

 

अब यह कर्फ्यू 4 अप्रैल तक लागू रहेगा। शहर भर में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। रैली पर पथराव के बाद उपजे तनाव को लेकर पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया है। शहर के 15 से ज्यादा जगहों पर राजस्थान  पुलिस (Rajasthan Police) के जत्थे तैनात किए गए हैं। शनिवार को भड़की इस हिंसा के बाद रात तकराजस्थान  पुलिस (Rajasthan Police) ने स्थिति अपने कंट्रोल में कर लिया है। अब शहर में 50 पुलिस अधिकारियों समेत 600 जवान तैनात हैं।

कार्रवाई में जुटी राजस्थान  पुलिस (Rajasthan Police)

पुलिस ने हालात काबू में आने के बाद उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। कलेक्टर राजेंद्र सिंह शेखावत ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस एक्शन मोड में है। लगातार उपद्रवियों की तलाश की जा रही है। अब तक 30 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है। रात करीब एक बजे तक चली बैठक में सहमति बनी की दोनों समुदाय के लोग घरों में रहेंगे और आसपास के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करेंगे। कलेक्टर ने बताया कि रात में साढ़े 10 बजे के बाद हालात काबू में आने लगे थे। लोगों से घरों के अंदर रहने की अपील की जा रही है। रविवार को सड़कों पर भी कर्फ्यू का असर देखने को मिल रहा है।

पढ़ें :- मुलायम को पद्म विभूषण देने पर भड़कीं पूर्णिमा कोठारी, बोली-तो क्या मोदी सरकार कारसेवकों को घोषित करेगी आतंकी ?

 

जानें क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद?

बता दें कि शहर में उपद्रव के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया है। यह कर्फ्यू 4 अप्रैल तक लागू रहेगा। इस दौरान किसी को भी घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। जिले में इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी गई हैं। मेडिकल स्टोर्स को खोलने की अनुमति दी गई है। वहीं दोपहर 3 से 5 तक दूध और सब्जी की सप्लाई करने की छूट रहेगी। वहीं इंरजेंसी में शहर के बाहर जाने वाले लोगों को कोतवाली से अनुमति लेनी होगी। वहीं कैलादेवी आने वाले श्रद्धालुओं पर कर्फ्यू का कोई असर नहीं पड़ेगा। इन श्रद्धालुओं के आने-जाने पर कोई रोक नहीं होगी। पुलिस खुद श्रद्धालुओं को सुरक्षा देगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...