HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. छात्रों के भविष्य पर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी आदत है…मल्लिकार्जुन खरगे के बयान पर केंद्रीय मंत्री ने किया पलटवार

छात्रों के भविष्य पर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी आदत है…मल्लिकार्जुन खरगे के बयान पर केंद्रीय मंत्री ने किया पलटवार

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने एक्स पर लिखा कि, NEET परीक्षा मामले में NTA सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए उचित कार्यवाही करने को कटिबद्ध है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार 1563 विद्यार्थियों की परीक्षा दोबारा करायी जायेगी। NEET परीक्षा में किसी प्रकार की धांधली, भ्रष्टाचार या पेपर लीक की कोई भी पुख़्ता सबूत अभी तक सामने नहीं आया है। इससे संबंधित सारे तथ्य सुप्रीम कोर्ट के सामने हैं और विचाराधीन हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नीट परीक्षा को लेकर विवाद जारी है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने इसको लेकर सरकार को घेरते हुए सीबीआई जांच की मांग की है। वहीं, अब केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की तरफ से पलटवार किया गया है। उन्होंने कहा कि, कांग्रेस इस ग़लतफ़हमी में ना रहे कि कोई भी nexus पाया जाएगा तो उस पर कार्यवाही नहीं होगी। इस Act के प्रावधानों को बहुत बारीकी से अमल में लाया जाएगा।

पढ़ें :- अखिलेश यादव ,बोले-मुजफ्फरनगर पुलिस का फरमान सामाजिक अपराध,कोर्ट स्वत: संज्ञान ले और करे कार्रवाई

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने एक्स पर लिखा कि, NEET परीक्षा मामले में NTA सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए उचित कार्यवाही करने को कटिबद्ध है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार 1563 विद्यार्थियों की परीक्षा दोबारा करायी जायेगी। NEET परीक्षा में किसी प्रकार की धांधली, भ्रष्टाचार या पेपर लीक की कोई भी पुख़्ता सबूत अभी तक सामने नहीं आया है। इससे संबंधित सारे तथ्य सुप्रीम कोर्ट के सामने हैं और विचाराधीन हैं।

मैं कांग्रेस को ये याद दिलाना चाहता हूं की पेपर लीक रोकने और नक़ल विहीन परीक्षा के लिए केंद्र सरकार ने इसी साल Public Examination (Prevention of Unfair Means) Act पारित किया है जिसमें कई कड़े प्रावधान हैं। कांग्रेस इस ग़लतफ़हमी में ना रहे कि कोई भी nexus पाया जाएगा तो उस पर कार्यवाही नहीं होगी। इस Act के प्रावधानों को बहुत बारीकी से अमल में लाया जाएगा।

उन्होंने आगे लिखा कि, छात्रों के भविष्य पर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी आदत है। राजनीतिक रोटियां सेकने के बजाय कांग्रेस को भारत के विकास में योगदान देना चाहिए। इस मुद्दे पर जिस तरह की राजनीति की जा रही है, वह केवल भ्रम फैलाने की कोशिश है और इससे विद्यार्थियों के मानसिक शांति पर असर पड़ता है। वर्तमान में NEET की काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू होने जा रही है और इसे राजनीतिक आखेट का विषय बनाना न केवल अनुचित है बल्कि यह भावी पीढ़ी के साथ खिलवाड़ करने जैसा है। केंद्र सरकार का ध्यान हमेशा छात्रों का उज्ज्वल भविष्य सुनिश्चित करने पर है। विपक्ष मुद्दाविहीन है, ऐसे संवेदनशील मुद्दे पर विपक्ष बिना तथ्य जाने सिर्फ झूठ फैला रहा है। कांग्रेस अपनी ओछी राजनीति के लिए देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है।

 

पढ़ें :- क्या यूपी भाजपा में होने जा रहा बड़ा बदलाव? भूपेंद्र चौधरी ने PM नरेंद्र मोदी से की मुलाकात

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...