HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Share Market Fraud : शरद पवार से मिले विपक्षी नेता, शेयर बाजार में कथित हेरफेर की जांच की मांग को लेकर सेबी के बाहर प्रदर्शन

Share Market Fraud : शरद पवार से मिले विपक्षी नेता, शेयर बाजार में कथित हेरफेर की जांच की मांग को लेकर सेबी के बाहर प्रदर्शन

शेयर बाजार (Share Market)  में हेरफेर के बारे में शिकायत करने के लिए सेबी अध्यक्ष से मिलने से पूर्व टीएमसी (TMC) , यूबीटी (UTB)  और एनसीपी (NCP) नेताओं ने एनसीपी-एससीपी प्रमुख शरद पवार (NCP-SCP chief Sharad Pawar) से मुलाकात की। यह मुलाकात मुंबई में सिल्वर ओक स्थित पवार के आवास पर हुई।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। शेयर बाजार (Share Market)  में हेरफेर के बारे में शिकायत करने के लिए सेबी अध्यक्ष से मिलने से पूर्व टीएमसी (TMC) , यूबीटी (UTB)  और एनसीपी (NCP) नेताओं ने एनसीपी-एससीपी प्रमुख शरद पवार (NCP-SCP chief Sharad Pawar) से मुलाकात की। यह मुलाकात मुंबई में सिल्वर ओक स्थित पवार के आवास पर हुई। उसके बाद विपक्षी नेताओं ने शेयर बाजार (Share Market) के नियामक सेबी (SEBI) के बाहर प्रदर्शन किया।

पढ़ें :- हाथरस की घटना पर राहुल गांधी ने जताया दुख, कहा-INDIA के सभी कार्यकर्ता राहत और बचाव में अपना सहयोग प्रदान करें

तृणमूल कांग्रेस के सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ( Sharad Pawar)से मुलाकात की। पवार ने इस महीने की शुरुआत में एग्जिट पोल के बाद शेयर बाजार में कथित हेरफेर की जांच की तृणमूल की मांग का समर्थन किया था। स्टॉक में कथित हेरफेर की शिकायत सेबी से करने पर शिव सेना (UTB) नेता अरविंद सावंत ने कहा कि जिन एजेंसियों के कारण आम आदमी के 30 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ वही एजेंसियां एफआईआई और एग्जिट पोल के लिए काम कर रही हैं। उनके साथ वह जुड़ाव एक गंभीर बात है जिसकी जांच होनी चाहिए। मुंबई में टीएमसी (TMC) , यूबीटी (UTB)  और एनसीपी (NCP) नेताओं ने कथित शेयर बाजार (Share Market)  में हेरफेर को लेकर सेबी (SEBI) के बाहर विरोध प्रदर्शन और नारे लगाए।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Congress MP Rahul Gandhi) ने भी आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) सबसे बड़े शेयर बाजार घोटाले’ में ‘सीधे तौर पर शामिल’ हैं। उन्होंने कहा था कि इस महीने की शुरुआत में लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद बाजार में गिरावट के कारण खुदरा निवेशकों को 30 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

भाजपा ने विपक्षी दलों के आरोपों को ‘निराधार’ बताकर खारिज कर दिया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (TMC)  प्रमुख ममता बनर्जी (Chief Mamata Banerjee) ने इस बात की जांच की मांग की है कि कैसे फर्जी एग्जिट पोल का इस्तेमाल करके शेयर बाजारों में हेरफेर किया गया।

मंगलवार को फेसबुक पर एक पोस्ट में, पवार ने कहा कि अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बनर्जी (All India Trinamool Congress MP Kalyan Banerjee) , सागरिका घोष और साकेत गोखले एग्जिट पोल के दौरान शेयर बाजार में हेरफेर की जांच की मांग करने के लिए सेबी का दौरा करने के लिए मुंबई में हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी-शरदचंद्र पवार (Nationalist Congress Party-Sharadchandra Pawar) इस कारण से उनका समर्थन कर रहे हैं।

पढ़ें :- लोकसभा स्पीकर पद को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष आमने-सामने, शरद पवार ने इस मुद्दे पर दिया बड़ा बयान

पवार ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने सुबह उनके मुंबई स्थित आवास पर शिष्टाचार भेंट की। शिवसेना सांसद अरविंद सावंत, राकांपा सांसद सुप्रिया सुले, जो शरद पवार की बेटी हैं, और पूर्व एमएलसी विद्या चव्हाण भी बैठक में मौजूद थीं। इससे पहले लोकसभा चुनाव परिणामों के बाद 6 जून 2024 को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दावा किया था कि शेयर बाजार पर सरकार की ओर से की गई टिप्पणी से लाखों खुदरा निवेशकों का नुकसान हुआ। उन्होंने कहा था कि इससे निवेशकों को 30 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

उन्होंने कहा था कि यह शेयर बाजार (Share Market)   का अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है। इसकी संसदीय समिति से जांच कराई जानी चाहिए। राहुल ने कहा था कि हमने नोट किया कि चुनाव के समय प्रधानमंत्री ने, गृह मंत्री और वित्त मंत्री ने स्टॉक मार्केट (Stock Market)    पर टिप्पणी की। प्रधानमंत्री ने दो-तीन चार बार देश को कहा कि स्टॉक मार्केट (Stock Market)  तेजी से आगे बढ़ने जा रहा है। स्टॉक मार्केट (Stock Market)   में निवेश करने के लिए कहा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...