HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. अजीत डोभाल NSA और पीके मिश्रा बने रहेंगे पीएम मोदी के प्रधान सचिव

अजीत डोभाल NSA और पीके मिश्रा बने रहेंगे पीएम मोदी के प्रधान सचिव

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने अजीत डोभाल (Ajit Doval) को फिर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) नियुक्त किया है। वहीं, कैबिनेट की नियुक्ति समिति(Appointments Committee of the Cabinet) ने डॉ. पी के मिश्रा (Dr. P.K. Mishra) को प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के रूप में नियुक्त किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने अजीत डोभाल (Ajit Doval) को फिर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) नियुक्त किया है। वहीं, कैबिनेट की नियुक्ति समिति(Appointments Committee of the Cabinet) ने डॉ. पी के मिश्रा (Dr. P.K. Mishra) को प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के रूप में नियुक्त किया है। पी के मिश्रा ( P.K. Mishra) की नियुक्ति प्रधानमंत्री के कार्यकाल के साथ या अगले आदेश तक रहेगी। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, उनको वरीयता तालिका में कैबिनेट मंत्री (Cabinet Minister) का दर्जा दिया जाएगा।

पढ़ें :- अखिलेश यादव ,बोले-मुजफ्फरनगर पुलिस का फरमान सामाजिक अपराध,कोर्ट स्वत: संज्ञान ले और करे कार्रवाई

अजीत डोभाल (Ajit Doval)  को लगातार तीसरी बार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) नियुक्त किया गया है। अजीत डोभाल (Ajit Doval)  को पहली बार 20 मई 2014 को देश का राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया गया था। तब से डोभाल ही इस पद को संभाल रहे हैं। उनसे पहले शिवशंकर मेनन देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार थे। 1968 बैच के आईपीएस अधिकारी अजीत डोभाल (Ajit Doval) को कूटनीतिक सोच और काउंटर टेरेरिज्म का विशेषज्ञ माना जाता है।

उधर प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है। यह जिम्मेदारी पीके मिश्रा ( P.K. Mishra)  ही संभालते रहेंगे। केंद्रीय कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने अजीत डोभाल (Ajit Doval)  और पीके मिश्रा की पुनर्नियुक्ति पर मुहर लगा दी है। आईएएस (सेवानिवृत्त) पीके मिश्रा ( P.K. Mishra)  को 10 जून 2024 से प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के रूप में नियुक्त किया गया। पीके मिश्रा ( P.K. Mishra)  1972 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। वह पिछले 1 दशक से प्रधानमंत्री मोदी के साथ प्रधान सचिव के तौर पर काम कर रहे हैं।  पीके मिश्रा ( P.K. Mishra)  प्रशासनिक मामले और प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) में नियुक्तियों का काम देखेंगे। इसके अलावा अजीत डोभाल (Ajit Doval) राष्ट्रीय सुरक्षा, सैन्य मामले और इंटेलिजेंस की जिम्मेदारी संभालेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...