HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. तकनीक
  3. How to do AC Servicing: इन तरीकों से खुद ही कर लें एसी की सर्विसिंग, नहीं खर्च होगा एक भी रुपया

How to do AC Servicing: इन तरीकों से खुद ही कर लें एसी की सर्विसिंग, नहीं खर्च होगा एक भी रुपया

How to do AC Servicing: दिल्ली-एनसीआर और उत्तर प्रदेश समेत देश के कई हिस्सों में तापमान 45 डिग्री पार पहुंच चुका है। ऐसे में पंखा और कूलर पूरी तरह से ठप्प पद गए हैं और अब लोगों के लिए एयर कंडीशनर (AC) ही एकमात्र विकल्प बच गया है। लेकिन, एसी सही से काम करता रहे और ठंडी हवा देता रहे, इसके लिए समय-समय पर फिल्टर को साफ करना जरूरी है।

By Abhimanyu 
Updated Date

How to do AC Servicing: दिल्ली-एनसीआर और उत्तर प्रदेश समेत देश के कई हिस्सों में तापमान 45 डिग्री पार पहुंच चुका है। ऐसे में पंखा और कूलर पूरी तरह से ठप्प पद गए हैं और अब लोगों के लिए एयर कंडीशनर (AC) ही एकमात्र विकल्प बच गया है। लेकिन, एसी सही से काम करता रहे और ठंडी हवा देता रहे, इसके लिए समय-समय पर फिल्टर को साफ करना जरूरी है।

पढ़ें :- OnePlus Pad 2 की कीमत लॉन्च से ठीक एक दिन पहले हुई लीक; फटाफट चेक करें Price डिटेल्स

दरअसल, एसी के फिल्टर में समय के साथ धूल, गंदगी और अन्य मलबे जमा हो सकते हैं, जिससे हवा का फ्लो रुक जाता है। जिसकी वजह से कूलिंग में कमी, ज्यादा बिजली बिल और ब्रेकडाउन जैसी समस्या हो सकती है। एसी का साफ फिल्टर से स्वच्छ और स्वस्थ इनडोर वायु को बढ़ावा मिलता है। साफ फिल्टर बेस्ट एयर फ्लो सुनिश्चित करता है, जिससे एसी यूनिट बेहतरीन से काम करती है और अच्छी कूलिंग देती है।

एसी के फिल्टर को साफ करने का तरीका

1- फिल्टर को साफ करने के लिए कुछ चीजों व टूल्स की जरूरत होगी। इन टूल में स्क्रूड्राइवर, ब्रश, अटैचमेंट वाला वैक्यूम क्लीनर, नरम ब्रश या माइक्रोफाइबर कपड़ा, हल्का डिश सोप या लॉन्ड्री डिटर्जेंट, गर्म पानी और स्प्रे बोतल शामिल है।

2- अब सबसे पहले एसी यूनिट पूरी तरह से बंद करें और अनप्लग करें। ताकि आप बिजली के संभावित खतरे से बचे रहें।

पढ़ें :- 12 हजार से कम में लॉन्च हुआ iQOO का 5G स्मार्टफोन; फटाफट चेक करें फीचर्स और ऑफर्स

3- एसी मॉडल विंडो यूनिट और स्प्लिट सिस्टम में, फिल्टर फ्रंट ग्रिल या पैनल के पीछे होता है। पैनल खोलने और फिल्टर को सावधानी से निकालने के लिए स्क्रूड्राइवर का इस्तेमाल करें। फिल्टर को हटाने के बाद गंदगी, धूल या मलबे के लिए फिल्टर की जांच करें।

4- फिल्टर बहुत ज़्यादा भरा हुआ या क्षतिग्रस्त होने पर इसे बदल दें। या फिल्टर सिर्फ गंदा है तो इसके दोनों तरफ से ढीली धूल और मलबे को सावधानीपूर्वक हटाने के लिए ब्रश अटैचमेंट वाले वैक्यूम क्लीनर का उपयोग करें।

5- एक बेसिन या सिंक को गर्म पानी से भरें और उसमें थोड़ी मात्रा में माइल्ड डिश सोप या लॉन्ड्री डिटर्जेंट डालकर उसमें फिल्टर को डुबोएं और 15-30 मिनट तक भीगने दें।

6- भिगोने के बाद फिल्टर को धीरे से साफ करने के लिए सॉफ्ट ब्रश या माइक्रोफाइबर कपड़े का उपयोग करें, जिससे बची हुई गंदगी और मैल निकल जाए।

7- इसके बाद फिल्टर को बहते पानी के नीचे अच्छी तरह से धोएं। पानी फिल्टर से हवा के प्रवाह की विपरीत दिशा में बहता है जिससे फंसे हुए कणों को हटाया जा सके।

पढ़ें :- BSNL MNP : जियो, एयरटेल और Vi सिम को बीएसएनएल ऐसे करें पोर्ट, जानें प्रोसेस

8- फिल्टर को पूरी तरह सूखाने के बाद फिर से एसी यूनिट में इंस्टॉल करें। ध्यान रहे कि फिल्टर को ड्रायर आदि का उपयोग करने से बचें, क्योंकि इससे फिल्टर को नुकसान हो सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...