HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अयोध्या में नेताओं और अफसरों के परिवार ने जमकर खरीदी जमीन, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

अयोध्या में नेताओं और अफसरों के परिवार ने जमकर खरीदी जमीन, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

अयोध्या में नेताओं और अफसरों ने जमकर जमीन की खरीदी। अफसरों ने अयोध्या में उस दौरान जमीन की खरीदारी शुरू की जब राम मंदिर निर्माण का रास्ता खोलने वाला सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया। सबसे बड़ी बात ये है कि सात सालों में भी यहां का सर्किल रेट नहीं बढ़ा। इंडिया एक्सप्रेस ने अपनी एक रिपोर्ट में कुछ वीवीआईपी खरीदारों के नाम उजागर किए हैं...

By शिव मौर्या 
Updated Date

अयोध्या। अयोध्या में नेताओं और अफसरों ने जमकर जमीन की खरीदी। अफसरों ने अयोध्या में उस दौरान जमीन की खरीदारी शुरू की जब राम मंदिर निर्माण का रास्ता खोलने वाला सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया। सबसे बड़ी बात ये है कि सात सालों में भी यहां का सर्किल रेट नहीं बढ़ा। इंडिया एक्सप्रेस ने अपनी एक रिपोर्ट में कुछ वीवीआईपी खरीदारों के नाम उजागर किए हैं, जो अयोध्या ​और उसके आसापस के जिलों में अपने परिजनों के नाम से जमीन की खरीदारी की है। रिपोर्ट से पता चलता है कि अयोध्या और आसपास के जिले गोंडा और बस्ती के कम से कम 25 गांवों में भूमि लेनदेन की संख्या में 30 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है, जो मंदिर के 15 किलोमीटर के दायरे में आते हैं। इनमें से कई सौदे परिवार के सदस्यों या विभिन्न दलों के राजनेताओं और सरकारी अधिकारियों से करीबी तौर पर जुड़े लोगों द्वारा किए गए हैं। अयोध्या और आसपास जमीन खरीदने वालों में डिप्टी सीएम से लेकर कई बड़े उद्योगपति भी शामिल हैं।

पढ़ें :- अगर प्रदेश की सड़कों पर डग्गामार या बिना प​रमिट के कोई बस चलती मिली तो अधिकारियों की खैर नहीं: सीएम

खरीदारों में अरुणाचल प्रदेश के डिप्टी सीएम चौना में, भाजपा नेता और पूर्व सांसद बृज भूषण शरण सिंह, अमिताभ यश जैसे लोगों के परिवार का नाम शामिल है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद से मार्च 2024 तक राम मंदिर के आस-पास के 25 गांवों में जमीन खरीद-बिक्री की 2500 रजिस्ट्री की पड़ताल के बाद दावा किया है कि इन इलाकों में जमीन की डील 30 प्रतिशत बढ़ गई है।

इन वीवीआईपी के परिवार के नाम से खरीदी गई जमीन
अखबार की रिपोर्ट में उन सभी वीआईपी परिवारों के लोगों के नाम को उजागर किया गया है, जो अयोध्या और आसपास के जिलों में जमीन खरीदे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, जिन 18 वीवीआई लोगों के परिवार ने जमीन खरीदी है, उसमें डिप्टी सीएम चौना में, भाजपा नेता और पूर्व सांसद बृज भूषण शरण सिंह और अमिताभ यश के अलावा उत्तर प्रदेश के गृह सचिव व आईपीएस संजीव गुप्ता, यूपी के शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक अरविंद पांडेय, रेलवे के डिप्टी चीफ इंजीनियर महाबल प्रसाद, आईपीएस अफसर पलाश बंसल, आईपीएस अफसर अनूप सिंह, रिटायर्ड डीजीपी यशपाल सिंह, सीबीएसई के पूर्व सचिव अनुराग त्रिपाठी, हरियाणा योग आयोग अध्यक्ष जयदीप आर्या, यूपी के भाजपा नेता व विधायक अजय सिंह, भाजपा नेता व गोसाईगंज नगर पंचायत अध्यक्ष विजय लक्ष्मी जायसवाल, भाजपा नेता व अमेठी जिला पंचायत अध्यक्ष राजेश अग्रहरि, बसपा नेता व पूर्व विधायक जितेंद्र कुमार उर्फ बबलू भैया, भाजपा नेता व पूर्व विधायक चंद्र प्रकाश शुक्ला, सपा नेता व पूर्व एमएलसी राकेश राणा और बसपा से भाजपा में शामिल पूर्व एमएलसी श्याम नारायण सिंह उर्फ विनीत सिंह का परिवार शामिल हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...