HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. हाथरस में दर्दनाक घटना पर सीएम योगी ने जताया दुख, एडीजी आगरा और कमिश्नर अलीगढ़ के नेतृत्व में जांच के निर्देश

हाथरस में दर्दनाक घटना पर सीएम योगी ने जताया दुख, एडीजी आगरा और कमिश्नर अलीगढ़ के नेतृत्व में जांच के निर्देश

उत्तर प्रदेश के हाथरस के सिकंदरा राऊ कस्बे में सत्संग के दौरान भगदड़ में एक दर्दनाक घटना हुई। इस घटना में अब तक 27 लोगों के मौत की पुष्टि हो चुकी है, जबकि बड़ी संख्या में लोग घायल हैं। मृतकों की सबसे ज्यादा महिलाएं बताई जा रही हैं। वहीं, इस घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है। इसके साथ ही घटना की जांच के निर्देश दिए हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

UP News: उत्तर प्रदेश के हाथरस के सिकंदरा राऊ कस्बे में सत्संग के दौरान भगदड़ में एक दर्दनाक घटना हुई। इस घटना में अब तक 27 लोगों के मौत की पुष्टि हो चुकी है, जबकि बड़ी संख्या में लोग घायल हैं। मृतकों की सबसे ज्यादा महिलाएं बताई जा रही हैं। वहीं, इस घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है। इसके साथ ही घटना की जांच के निर्देश दिए हैं।

पढ़ें :- अगर प्रदेश की सड़कों पर डग्गामार या बिना प​रमिट के कोई बस चलती मिली तो अधिकारियों की खैर नहीं: सीएम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद हाथरस में हुए हादसे में मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाकर उनके समुचित उपचार कराने और मौके पर राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एडीजी आगरा और कमिश्नर अलीगढ़ के नेतृत्व में घटना के कारणों की जांच के निर्देश दिए हैं।

बता दें कि, हाथरस के सिकंदरा राऊ कस्बे में एक बड़ा हादसा हुआ। ये हादसा उस दौरान हुआ जब भोले बाबा का सत्संग चल रहा था। कहा जा रहा है कि, सत्संग समाप्त होने के बाद यहां से लोग जाना शुरू किए। इसी दौरान वहां पर भगदड़ मच गई। इस दौरान भगदड़ में महिलाएं और बच्चे बुरी तरह कुचलते चले गए। मौके पर चीख पुकार मच गई। हादसे में अभी तक 27 लोगों के मौत की सूचना है, जिसमें सबसे बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हैं। वहीं, मृतकों की सूची में बच्चे भी शामिल हैं। वहीं, अभी मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। काफी संख्या में महिलाएं, बुजुर्ग और बच्चे घायल हैं। जिनकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

बताया जा रहा है कि, संत भोले बाबा का प्रवचन सुनने के लिए बड़ी संख्या में लोग आए थे। बताया जा रहा है कि, पंडाल में भयानक उमस और गर्मी के कारण भगदड़ जैसी स्थिति बन गई। वहीं, घटनास्थल पर पुलिस प्रशासन और एंबुलेंस पहुंचने में देरी बताई जा रही हे। स्थानीय लोगों ने आसपास के अस्पताल और एटा के अस्पताल में घायलों को भेजा है। बताया जा रहा है कि, अभी तक 25 महिलाएं और दो बच्चों की भगदड़ में मौत हुई।

 

पढ़ें :- राहुल गांधी ने कहा- मैं सभी कार्यकर्ताओं से आग्रह करता हूं कि स्मृति ईरानी या अन्य नेता के प्रति अपमानजनक भाषा  और बुरा व्यवहार करने से बचें
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...