HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. भाजपा की सरकारें देश की हर एक संस्था को बेहतर बनाने की जगह उन्हें कमजोर करने का काम कर रही: प्रियंका गांधी

भाजपा की सरकारें देश की हर एक संस्था को बेहतर बनाने की जगह उन्हें कमजोर करने का काम कर रही: प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी ने एक्स पर लिखा कि, उत्तर प्रदेश पुलिस में सब इंस्पेक्टर के स्तर पर आउटसोर्सिंग के जरिये भर्तियों पर विचार किया जा रहा है। इस संबंध में जिलों के अधिकारियों को पत्र भेजा गया था जो कि सोशल मीडिया पर वायरल है। भाजपा सरकार ने अग्निपथ स्कीम लाकर हमारी सेना और युवाओं का भविष्य दोनों कमजोर किया।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस में आउटसोर्सिंग के माध्यम से भर्ती प्रक्रिया से जुड़ा एक लेटर वायरल हुआ। लेटर वायरल होने के बाद विपक्षी दलों को सरकार को घेरने का मौका मिल गया। हालांकि, यूपी पुलिस ने स्पष्ट कर दिया कि यह पत्र त्रुटिवश जारी हो गया है। इसके बाद भी विपक्षी दलों की तरफ से लगातार सरकार को घेरा जा रहा है। अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि, भाजपा सरकार ने अग्निपथ स्कीम लाकर हमारी सेना और युवाओं का भविष्य दोनों कमजोर किया। अब यूपी पुलिस में यही खेल करने का प्रयास चल रहा है।

पढ़ें :- बिजली मीटर की जांच व बकाया बिल के नाम पर किसी उपभोक्ता का उत्पीड़न न किया जाए: सीएम योगी

प्रियंका गांधी ने एक्स पर लिखा कि, उत्तर प्रदेश पुलिस में सब इंस्पेक्टर के स्तर पर आउटसोर्सिंग के जरिये भर्तियों पर विचार किया जा रहा है। इस संबंध में जिलों के अधिकारियों को पत्र भेजा गया था जो कि सोशल मीडिया पर वायरल है। भाजपा सरकार ने अग्निपथ स्कीम लाकर हमारी सेना और युवाओं का भविष्य दोनों कमजोर किया। अब यूपी पुलिस में यही खेल करने का प्रयास चल रहा है। भाजपा की सरकारें देश की हर एक संस्था को बेहतर बनाने की जगह उन्हें कमजोर करने का काम कर रही हैं।

उन्होंने आगे लिखा कि, प्रदेश पुलिस की तरफ से जो सफाई पेश की गई है, वह समझ से परे है। एक के बाद एक पेपर लीक, अग्निवीर, लाखों खाली पद और अब पुलिस भर्ती में आउटसोर्सिंग की खबरों से प्रदेश के करोड़ों युवा आक्रोशित हैं। भाजपा को सामने आकर इस बारे में स्पष्ट जवाब देना चाहिए।

बता दें कि, उत्तर प्रदेश पुलिस में आउटसोर्सिंग के माध्यम से भर्ती प्रक्रिया से जुड़ा एक लेटर वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल होते ही चर्चा शुरू हो गई, जिसके बाद अब डीजीपी दफ्तर ने सफाई पेश की है। डीजीपी प्रशांत कुमार ने स्पष्ट किया है कि चतुर्थ श्रेणी यानि चपरासी स्तर पर आउटसोर्सिंग से कर्मचारियों की भर्ती पहले से कराई जाती है। यह भी बताया है कि यह पत्र त्रुटिवश जारी हो गया है।

 

पढ़ें :- नौकरशाहों के गलत फैसलों सरकार की छवि शिक्षक और कर्मचारी विरोधी बनी : बीजेपी एमएलसी देवेन्द्र प्रताप सिंह

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...