HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. 18वीं लोकसभा का पहला सत्र 24 और राज्यसभा की कार्यवाही 27 जून से, तीन जुलाई तक चलेगा सत्र

18वीं लोकसभा का पहला सत्र 24 और राज्यसभा की कार्यवाही 27 जून से, तीन जुलाई तक चलेगा सत्र

18वीं लोकसभा (18th Lok Sabha) का पहला सत्र 24 जून से शुरू होगा। इसके अलावा 264वीं राज्यसभा का सत्र 27 जून से प्रारंभ होगा। इस दौरान नव निर्वाचित सदस्यों का शपथ ग्रहण, लोकसभा के अध्यक्ष का चुनाव, राष्ट्रपति का अभिभाषण और उस पर चर्चा की जाएगी। दोनों सदनों के सत्र तीन जुलाई तक चलेंगे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। 18वीं लोकसभा (18th Lok Sabha) का पहला सत्र 24 जून से शुरू होगा। इसके अलावा 264वीं राज्यसभा का सत्र 27 जून से प्रारंभ होगा। इस दौरान नव निर्वाचित सदस्यों का शपथ ग्रहण, लोकसभा के अध्यक्ष का चुनाव, राष्ट्रपति का अभिभाषण और उस पर चर्चा की जाएगी। दोनों सदनों के सत्र तीन जुलाई तक चलेंगे। इसकी जानकारी केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री किरेन रिजिजू (Union Parliamentary Affairs Minister Kiren Rijiju) ने दी।

पढ़ें :- आम बजट 2024-25 भारत की 5 ट्रिलियन इकोनॉमी के लक्ष्य को पूरा करेगा : योगी आदित्यनाथ

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री किरेन रिजिजू (Union Parliamentary Affairs Minister Kiren Rijiju)  ने बुधवार को बताया कि 18वीं लोकसभा (18th Lok Sabha)  का पहला सत्र 24 जून को शुरू होगा, जिसमें नवनिर्वाचित सदस्य शपथ लेंगे। सत्र के पहले तीन दिन नवनिर्वाचित नेताओं को शपथ दिलाई जाएगी। इसके साथ ही सदन के अध्यक्ष का चुनाव भी कराया जाएगा। सत्र का समापन 3 जुलाई को होगा। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (President Draupadi Murmu) 27 जून को लोकसभा और राज्यसभा की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी और अगले पांच वर्षों के लिए नई सरकार के रोडमैप की रूपरेखा पेश करेंगी।

रिजिजू ने एक्स पोस्ट में  क्या कहा?

रिजिजू ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि 18वीं लोकसभा (18th Lok Sabha)  का पहला सत्र 24.6.24 से 3.7.24 तक नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ/प्रतिज्ञान, अध्यक्ष के चुनाव, राष्ट्रपति के अभिभाषण और उस पर चर्चा के लिए बुलाया जा रहा है। राज्यसभा का 264वां सत्र भी 27 जून को शुरू होगा और 3 जुलाई को समाप्त होगा। 27 जून को राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi)  की ओर से संसद में अपने मंत्रिपरिषद का परिचय कराए जाने की उम्मीद है।

विपक्ष रह सकता है आक्रामक, पीएम मोदी देंगे जवाब
लोकसभा चुनाव में विपक्षी गठबंधन के शानदार प्रदर्शन के बाद उम्मीद है कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बहस में इंडिया गठबंधन (India Alliance) आक्रामक रह सकता है। वे एनडीए सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरने की कोशिश कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बहस का जवाब भी देंगे।

पढ़ें :- भाजपा सरकार जातिवाद का जहर घोलकर समाज को तोड़ने की कर रही है साजिश : राकेश टिकैत
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...