HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. सट्टा बाजारा ने युवाओं को पहुंचाया सबसे ज्यादा चोट, हर शहर में शासन-सत्ता के लोग काम रहे मोटी रकम

सट्टा बाजारा ने युवाओं को पहुंचाया सबसे ज्यादा चोट, हर शहर में शासन-सत्ता के लोग काम रहे मोटी रकम

सट्टा बाजार के जरिए आज लोग सैकड़ों करोड़ काम रहे हैं। सट्टेबाज देश के हर शहर के गली—मोहल्ले में अपना बड़ा ​रैकेट का संचालन कर रहे हैं। आईपीएल के बाद सट्टेबाजों की सक्रियता और ज्यादा बढ़ गई और वो युवाओं को अपना निशाना बनाना शुरू कर दिए। सट्टेबाज युवाओं को करोड़ो रुपये कमाने का सपना दिखाकर उन्हें अपनी जाल में फंसा रहे हैं।

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ। सट्टा बाजार के जरिए आज लोग सैकड़ों करोड़ काम रहे हैं। सट्टेबाज देश के हर शहर के गली-मोहल्ले में अपना बड़ा ​रैकेट का संचालन कर रहे हैं। आईपीएल के बाद सट्टेबाजों की सक्रियता और ज्यादा बढ़ गई और वो युवाओं को अपना निशाना बनाना शुरू कर दिए। सट्टेबाज युवाओं को करोड़ो रुपये कमाने का सपना दिखाकर उन्हें अपनी जाल में फंसा रहे हैं। सबसे बड़ी ये हैं कि, इस काम में शासन-प्रशासन से लेकर कई दिग्गज नेताओं का भी इसमें हाथ है।

पढ़ें :- सीएम योगी ने शुरू किया पौधरोपण अभियान, बोले-अकबरनगर को हटाकर सौमित्र वन स्थापित किया जा रहा

उत्तर प्रदेश की बात करें तो आगरा और मुरादाबाद में कई ऐसे सट्टेबाज हैं जो कभी गैस चूल्हा और बिजली का काम करने के साथ रेलवे में खलासी थे, वो आज करोड़ों के मालिक हो गए हैं। कहा जाता है कि, इन्होंने शासन प्रशासन और लोकल के नेताओं के साथ मिलकर सट्टेबाजी में अपना कदम रखा और देखते ही देखते करोड़पति बन गए। इसमें सबसे बड़ा एक नाम है जो स्वदेश वर्मा उर्फ गागा का है। इसके साथ ही अजय अवागढ़, अरविंद शर्मा जैसे लोगों का नाम भी खूब सुर्खियों में आता है। इसी तरह से मुरादाबाद में भी कई ऐसे लोग हैं, जो आज सैकड़ों करोड़  के मालिक हो गए हैं।

कहा जाता है कि, सट्टेबाजी के जरिए इन्होंने करोड़ों रुपये कमाए हैं। सबसे बड़ी बात है कि इसमें पुलिस प्रशासन का भी हाथ होता है क्योंकि उनके पास तक इनकी पहुंच है। इसी तरह से हर शहर में एक ऐसा आदमी है, जो सट्टा बाजार के जरिए करोड़ों का खेल कर रहा है। शासन प्राशासन भी इनका साथ दे रहा है। गागा तो महज एक मोहरा है इसके ​साथ कितने लोग जुड़े हैं पुलिस प्रशासन को ये बताना मुश्किल हो जाएगा। बता दें कि, क्रिकेट/एमसीएक्स हर चीज पर सट्टा पर लगता है, ये बातें सबकों पता है कि ये सट्टा सभी शहरों में चल रहा है। इसमें सभी टेक्नालजी फ्रेंडली लोग इस काम को आसानी से कर रहे हैं।

सट्टेबाजों के जाल में फंसकर युवा कर रहे सुसाइड
सबसे बड़ी बात है कि, ये सट्टेबाज युवाओं को टारगेट कर हैं। युवाओं को ये करोड़पति बनाने का सपना दिखाकर अपनी जाल में फंसा रहे हैं और उनको खूब लूट रहे हैं। जब युवा इनकी जाल से बाहर नहीं निकल पा रहा है तो वो आत्महत्या जैसे कदम उठाने पर मजबूर हो जा रहा है।

बता दें कि, आगरा के चर्चित डिब्बा कारोबारी स्वदेश वर्मा उर्फ गागा को फरीदाबाद की पुलिस ने साढ़े सात करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है। 10 दिन की रिमांड पर लेकर आरोपी से हड़पी गई रकम के बारे में पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए आगरा में किनारी बाजार स्थित उसके प्रतिष्ठान से लेकर नेपाल तक दबिश दी थीं। तब कहीं जाकर आगरा से पकड़ा जा सका था।

पढ़ें :- यूपी सरकार और संगठन के बीच बढ़ी तकरार, दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री सोनम किन्नर ने अपने पद से दिया इस्तीफा

गागा के करीबियों पर भी होगी कार्रवाई
सराफा बाजार में गागा की गिरफ्तारी कारोबारियों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है। फरीदाबाद में दर्ज मुकदमा भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। किनारी बाजार में गागा की वर्मा संचार सेवा, बाजार में कारोबारियों को आपस में बातचीत के लिए लाइन उपलब्ध कराती है। यह एक तरह की डॉट फोन सेवा है। गागा का यह काम बहुत पुराना है। आगरा में अवैध वादा एक्सचेंज का गागा का सबसे बड़ा काम है। उसकी गद्दी नेपाल और दुबई तक है। बताया जा रहा है कि, गागा के कई साथियों पर कार्रवाई होगीं।

बता दें कि, सट्टे का जाल हर जगह फैला हुआ है आगे इसका खुलासा करेंगे।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...